Twitter Row: सोशल प्लेटफॉर्म्स को रविशंकर प्रसाद की चेतावनी, कहा- आजादी जरूरी, लेकिन नियम तो मानने होंगे

रविशंकर प्रसाद ने कहा 'मीडिया की स्वतंत्रता के लिए हमारी प्रतिबद्धता है लेकिन इसमें भारत की सुरक्षा और संप्रभुता शामिल है.' (फोटो: ANI/Twitter)

रविशंकर प्रसाद ने कहा 'मीडिया की स्वतंत्रता के लिए हमारी प्रतिबद्धता है लेकिन इसमें भारत की सुरक्षा और संप्रभुता शामिल है.' (फोटो: ANI/Twitter)

Twitter controversy: सरकार ने सोशल मीडिया (Social Media) प्लेटफॉर्म ट्विटर को भड़काऊ सामग्री रखने वाले अकाउंट्स के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए थे. हालांकि, ट्विटर इस मामले पर अब अदालत का दरवाजा खटखटाने पर विचार कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 1:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कानूनों को लेकर भारत सरकार (Indian Government) और ट्विटर के बीच जंग जारी है. इसी बीच केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने साफ कर दिया है कि किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने गुरुवार को कहा है कि भारत में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के दोहरे मानकों (Double Standards) को भारत में अनुमति नहीं दी जाएगी. सरकार ने ट्विटर (Twitter) से भड़काऊ सामग्री वाले अकाउंट्स पर कार्रवाई करने के लिए कहा था.

आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को कड़े शब्दों में चेतावनी दे दी है. सदन में प्रश्न-उत्तर के दौरान उन्होंने कहा, 'ट्विटर, फेसबुक (Facebook), लिंकडिन (LinkedIn) या वॉट्सऐप (WhatsApp) कोई भी हो. गलत करने पर इन सभी प्लेटफॉर्म्स के खिलाफ कार्रवाई होगी.' उन्होंने कहा, 'भारत में काम करें. आपके यहां करोड़ों फॉलोअर्स हैं. पैसा कमाएं, लेकिन आपको भारतीय कानून और संविधान का पालन करना होगा.'

Youtube Video


यह भी पढ़ें: ट्विटर ने नहीं माना भारत सरकार का आदेश तो गिरफ्तार किए जा सकते हैं टॉप अधिकारी
'गलत किया तो कार्रवाई होगी'

राज्यसभा में ट्विटर पर बात करते हुए प्रसाद ने कहा, 'सरकार सोशल मीडिया पर आलोचना के लिए तैयार है. इसने नागरिक को सशक्त किया है. लेकिन अगर सोशल मीडिया का इस्तेमाल हिंसा या झूठी खबर फैलाने के लिए होगा, तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.' उन्होंने यह साफ कर दिया है कि सरकार सोशल मीडिया के काम करने के तरीके को लेकर काफी सख्त होगी. प्रसाद ने कहा, 'मीडिया की स्वतंत्रता के लिए हमारी प्रतिबद्धता है लेकिन इसमें भारत की सुरक्षा और संप्रभुता शामिल है.'

उन्होंने कहा, 'हम इस बात पर काफी कठोर रहेंगे कि सोशल मीडिया कैसे काम कर रहा है. दोहरे मानक यहां नहीं चलेंगे. झूठी खबरें न फैलाएं. हिंसा न फैलाएं.' केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'जब आप एक प्लेटफॉर्म बन रहे हैं और अपने खुद के नियम बना रहे हैं, तो यह यहां नहीं चलेगा. आपको नियमों का पालन करना होगा.' वहीं, कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि सरकार का आदेश नहीं मानने पर भारत में ट्विटर के कुछ बड़े अधिकारियों के गिरफ्तार किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज