लोनी थाने में पूछताछ के लिए अब तक नहीं पहुंचे ट्विटर इंडिया के एमडी, जानें केस से जुड़ी हर अपडेट

लोनी पुलिस ने मुस्लिम बुजुर्ग के साथ मारपीट और वीडियो वायरल मामले में ट्वीटर समेत 8 के खिलाफ केस दर्ज किया है.

ट्विटर इंडिया (Twitter India) ने पुलिस को बताया था कि माहेश्‍वरी वीडियो कॉल (Video Call) के जरिए पूछताछ के लिए उपलब्‍ध हैं लेकिन पुलिस ने मंगलवार को नए सिरे से समन भेजा है, जिसमें ट्विटर इंडिया के एमडी को उसके सामने पेश होने के लिए कहा गया है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. गाजियाबाद के लोनी (Loni) में मुस्लिम बुजुर्ग से मारपीट मामले में वीडियो वायरल (Viral Video) होने के बाद ट्विटर इंडिया (Twitter India) के एमडी मनीष माहेश्वरी से गुरुवार को लोनी थाने में पूछताछ होनी थी. खबर है कि वे अब तक थाने नहीं पहुंचे हैं. सूत्रों ने जानकारी दी है कि उनके यहां आने की संभावना भी बेहद कम है. कहा जा रहा है कि ट्विटर इंडिया मामले पर लिखित जवाब के साथ अपना वकील भेज सकती है.

    ट्विटर इंडिया ने पुलिस को बताया था कि माहेश्‍वरी वीडियो कॉल के जरिए पूछताछ के लिए उपलब्‍ध हैं लेकिन पुलिस ने मंगलवार को नए सिरे से समन भेजा है, जिसमें ट्विटर इंडिया के एमडी को उसके सामने पेश होने के लिए कहा गया है.

    गाजियाबाद पुलिस ने नोटिस में कहा है क‍ि, आपके द्वारा दिया गया स्पष्टीकरण अनुचित है. भारत में ट्विटर के एमडी होने के नाते आप कंपनी के प्रतिनिधि हैं. इसलिए, आप भारतीय कानून द्वारा जांच में सहयोग करने के लिए बाध्य हैं. हिंदुस्तान टाइम्स की ओर से जानकारी दी गई है कि माहेश्वरी के अपने वकील के साथ सुबह 10.30 बजे लोनी कोतवाली पहुंचने की उम्मीद है.

    खबर है कि पुलिस ने ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी से पूछताछ के लिए 11 सवाल तैयार किए हैं. इनमें सबसे अहम सवाल भ्रामक वीडियो पर आपत्ति के बावजूद उसे नहीं हटाने को लेकर है. इसके साथ ही सवाल किया जाएगा कि जब भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के एक ट्वीट पर मैनिपुलेटेड का टैग लगा है, तो इसमें क्यों नहीं? इसके साथ ही पुलिस ये भी जानना चाहती है कि सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस भ्रामक वीडियो पर कितने लोगों ने रिपोर्ट किया है और ट्विटर ने इस पर क्या कार्रवाई की है.

    इसे भी पढ़ें :- कानूनी संरक्षण खत्म होते ही यूपी में दर्ज हुई Twitter के खिलाफ पहली FIR, जानिए क्या है आरोप

    17 जून को भी पुलिस ने भेजा था नोटिस
    पुलिस ने अपने नोटिस में पूछा है कि लोनी मसले पर हुए ट्वीट से समाज में साम्प्रदायिक सद्भाव का माहौल खराब हुआ था, आप चाहते तो उस ट्वीट को डिलीट कर सकते थे, लेकिन आपने नहीं किया. बता दें माइक्रोब्‍लॉगिंग साइट ने इस क्लिप से संबंधित 50 ट्वीट 'रोक' दिए हैं. लुमेन डेटाबेस पर सूचना के अनुसार, ट्विटर को 50 ट्वीट पर कार्रवाई करने के लिए भारत सरकार से 17 जून को एक कानूनी अनुरोध मिला था.

    इसे भी पढ़ें :- गाजियाबाद: बुजुर्ग से मारपीट मामले में ट्विटर समेत 8 पर FIR, धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप

    पुलिस ने ट्विटर और आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है
    बता दें कि संबंधित वीडियो के मामले में गाजियाबाद पुलिस ने ट्विटर और आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. यूपी पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धाराओं 153 (दंगा भड़काने के इरादे से उकसाना), 153ए (धर्म, वर्ग आदि के आधार पर समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना), 295 ए (किसी वर्ग के धर्म या धार्मिक विश्वास का अपमान करके उसकी धार्मिक भावनाओं को आहत करने के इरादे से जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्य करना), 120बी (आपराधिक साजिश) और अन्य के तहत मामला दर्ज किया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.