अपना शहर चुनें

States

किसानों के मुद्दे पर अमरिंदर और केजरीवाल के बीच छिड़ी जंग, जानें किसने क्या कहा?

अमरिंदर के हमले के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री ने लिखा, ''ये बिल राष्ट्र के लिए आपका गिफ्ट है, कैप्टन साहिब.
अमरिंदर के हमले के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री ने लिखा, ''ये बिल राष्ट्र के लिए आपका गिफ्ट है, कैप्टन साहिब."

केंद्र के कृषि कानून और किसानों के मुद्दे को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) और अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के बीच ट्विटर वार चल रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 15, 2020, 5:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र के कृषि कानून (Farm Law) और किसानों के मुद्दे पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के बीच ट्विटर पर भयंकर जुबानी जंग चल रही है. दरअसल आम आदमी पार्टी के नेताओं ने सोमवार को किसानों के समर्थन में एक दिन का उपवास रखा था. शाम को 5 बजे उपवास तोड़ते हुए केजरीवाल ने कहा कि कृषि कानून सिर्फ किसानों के खिलाफ नहीं है, बल्कि देश की आम जनता के खिलाफ है इससे महंगाई बढ़ेगी. केजरीवाल के इस बयान के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर केजरीवाल पर निशाना साधा.

कैप्टन ने ट्वीट किया, ''जैसा कि हर पंजाबी जानता है, मैं ईडी और अन्य मामलों से डरने वाला नहीं हूं. अरविंद केजरीवाल आप अपनी आत्मा बेच देंगे, अगर उससे आपके राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति होती हो. अगर आपको लगता है कि किसानों को नौटंकी द्वारा अपने पाले में किया जा सकता है तो आप पूरी तरह गलत हैं.'' हमला जारी रखते हुए अमरिंदर ने एक और ट्वीट किया, ''भारत के किसानों और विशेष रूप से पंजाब को पता है कि आपने 23 नवंबर को दिल्ली में कृषि संबंधी खेती कानून में से एक अधिसूचित करके किसानों के हित को बेच दिया है. केंद्र का आप पर क्या दबाव था.?''

अमरिंदर के इस हमले के बाद केजरीवाल ने ट्वीट कर हमला बोला. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने लिखा, ''आप उस समिति का हिस्सा थे, जिसने इन विधेयकों का मसौदा तैयार किया था. ये बिल राष्ट्र के लिए आपका गिफ्ट है. कैप्टन साहब, बीजेपी नेता आप पर दोहरे मापदंड का आरोप कभी नहीं लगाते, जिस तरह से वे अन्य सभी नेताओं पर आरोप लगाते हैं.''



इसके जवाब में अमरिंदर ने कहा, ''इन कृषि कानूनों पर किसी भी बैठक में चर्चा नहीं हुई और श्रीमान केजरीवाल आपके दोहराए झूठों से ये नहीं बदलेगा. और स्वाभाविक रूप से बीजेपी मुझ पर दोहरे मापदंड का आरोप नहीं लगा सकती है, क्योंकि मेरी उनके साथ कोई सांठगांठ नहीं है जैसे आपकी उनके साथ है. आखिरकार उन्हें आपकी मिलीभगत को ढंकना होगा.''
अमरिंदर के इस पलटवार के बाद केजरीवाल ने सोमवार शाम को एक बार फिर ट्वीट किया और कहा, ''यह रिकॉर्ड का हिस्सा है कि आपकी समिति ने इन कानूनों का मसौदा तैयार किया है. आपके पास इन कानूनों को रोकने की शक्ति थी, इस देश के लोगों को यह बताएं कि ये कानून केंद्र द्वारा जब परिकल्पित किए जा रहे थे. आप इसमें केंद्र के साथ क्यों रहे?''

बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार शाम को कहा था कि कृषि कानून के चलते देश में महंगाई बढ़ने का लाइसेंस दिया गया है. उन्होंने कहा, "चंद पूंजीपतियों को लाभ देने के लिए कानून बनाया गया है. कानून में लिखा है कि जब महंगाई दोगुनी हो जाएगी, तभी छापेमारी की जा सकती है. मैं मुख्यमंत्री हूं, इसके बावजूद छापेमारी नहीं कर सकता हूं, क्योंकि काले कानून ने मेरे हाथ बांध रखे हैं.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज