Home /News /nation /

सरकारी अधिकारी का अपमान क्यों? डीसी को फटकार मामले में प्रियंका चतुर्वेदी और हिमंता बिस्व सरमा के बीच ट्विटर वार

सरकारी अधिकारी का अपमान क्यों? डीसी को फटकार मामले में प्रियंका चतुर्वेदी और हिमंता बिस्व सरमा के बीच ट्विटर वार

प्रियंका ने यह भी कहा कि यह सब केवल एक पब्लिसिटी स्टंट था. (फाइल फोटो)

प्रियंका ने यह भी कहा कि यह सब केवल एक पब्लिसिटी स्टंट था. (फाइल फोटो)

Himanta Biswa Sarma, Priyanka Chaturvedi: प्रियंका चतुर्वेदी ने सीएम सरमा पलटवार करते हुए कहा कि ईमानदारी से अपना काम करने वाले एक अधिकारी को फटकार लगाने से पहले उन्हें स्पष्ट रूप से निर्देश देना चाहिए. इतना ही नहीं प्रियंका ने यह भी कहा कि यह सब केवल एक पब्लिसिटी स्टंट था. प्रियंका ने कहा कि सीएम द्वारा एक अधिकारी का सार्वजनिक अपमान पूरी तरह से अनुचित था.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्व सरमा (Himanta Biswa Sarma) और शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी (Priyanka Chaturvedi) के बीच ट्विटर वार छिड़ गया है. प्रियंका चतुर्वेदी ने सीएम सरमा के उस वायरल वीडियो (Himanta Biswa Sarma Viral Video) को लेकर सवाल उठाय है जिसमें वे नागांव जिले के डीसी को फटकार लगा रहे हैं. दरअसल मुख्यमंत्री शनिवार को नागांव (Nagaon) जिले में एक सड़क की आधार शिला रखने गए थे. इस दौरान उन्होंने देखा कि नेशनल हाईवे-37 के पास भारी जाम लगा हुआ है और इस पर उन्होंने जिला उपायुक्त को फटकार लगा दी.

    मुख्यमंत्री के दौरे को देखते हुए डीसी ने नेशनल हाइवे-37 पर गाड़ियों की आवाजाही को रोक दिया था जिससे हाइवे पर लंबा जाम लग गया.इसे देखकर मुख्यमंत्री को गुस्सा आ गया और उन्होंने फटकार लगाते हुए कहा कि यह सब क्या है..कोई राजा महाराज आ रहा है क्या ? ऐसा मत करो जिससे लोगों को दिक्कत हो. सीएम सरमा का यह वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो गया.

    अब इस वीडियो को लेकर प्रियंका चतुर्वेदी ने सीएम सरमा पलटवार करते हुए कहा कि ईमानदारी से अपना काम करने वाले एक अधिकारी को फटकार लगाने से पहले उन्हें स्पष्ट रूप से निर्देश देना चाहिए. इतना ही नहीं प्रियंका ने यह भी कहा कि यह सब केवल एक पब्लिसिटी स्टंट था. प्रियंका ने कहा कि सीएम द्वारा एक अधिकारी का सार्वजनिक अपमान पूरी तरह से अनुचित था.

    प्रियंका चतुर्वेदी के ट्वीट का जवाब देते हुए सीएम हिमंता बिस्व सरमा ने लिखा कि मैंने यात्रा से पहले लोगों को असुविधा ने करने के निर्देश दिए थे. सीएम ने कहा कि 15 मिनट से ज्यादा समय तक नेशनल हाईवे में जाम लगा रहा जिसमें ऐंबुलेंस को भी रोक दिया गया था. राष्ट्रीय राजमार्गों में यातायात और एंबुलेंस को रोकना हमारी मानक संचालन प्रक्रिया का हिस्सा नहीं. असम में कोई भी ऐसा निर्धारित नियम नहीं. यह सीएम प्रोटोकॉल का हिस्सा नहीं यह केवल पुलिस की सक्रियता थी और किसी भी तरह से यातायात को रोकने की जरूरत नहीं थी. उन्होंने कहा कि आज के असम में वीआईपी कल्चर स्वीकार नहीं है.

    सीएम सरमा के इस ट्वीट का जवाब देते हुए प्रियंका चतुर्वेदी ने लिखा कि मुझे लगता है कि देश में हर कोई चाहता है कि वीआईपी कल्चर खत्म हो लेकिन एक इमानदार नौकरशाह को सार्वजनिक रूप से अपमानित करके वीडियो रिकॉर्ड करने से ऐसा संभव नहीं है. प्रियंका ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि एक मिनट सोचिए कि अगर कोई गैर भाजपाई सीएम इस तरह करतो भूचाल आ जाता.

    Tags: Assam, Himanta biswa sarma, Priyanka Chaturvedi

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर