जम्मू कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तान ने की LoC पर गोलाबारी, दो नागरिक घायल

File Photo.

पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पर किरनी, कस्बा और शाहपुरा इलाकों में मोर्टार दागे और छोटे हथियारों से गोलीबारी की.

  • Share this:
    जम्मू. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा (Loc) के निकट अग्रिम चौकियों और नागरिक क्षेत्रों में मंगलवार को पाकिस्तान द्वारा गोलाबारी करने से दो नागरिक घायल हो गए. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया गोलीबारी और गोलाबारी से सीमावर्ती इलाकों में भय फैल गया है.

    उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पर किरनी, कस्बा और शाहपुरा इलाकों में मोर्टार दागे और छोटे हथियारों से गोलीबारी की. उन्होंने बताया कि दो नागरिक छर्रे लगने से घायल हो गये. पिछले शुक्रवार को पुंछ के शाहपुर, डोकरी और कसाबा क्षेत्रों में पाकिस्तानी गोलाबारी में कम से कम सात रिहायशी इमारतें छतिग्रस्त हो गई थीं. उन्होंने बताया कि भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई की.

    आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे पहुंचे जम्‍मू कश्‍मीर, सैन्‍य चौकियों का करेंगे दौरा
    नियंत्रण रेखा समेत जम्‍मू कश्‍मीर के कई सेक्‍टरों में पाकिस्‍तान की ओर से रूक-रूक कर गोलीबारी की जा रही है. इस बीच, सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे स्थिति का जायजा लेने के लिए वहां पहुंचे. न्‍यूज एजेंसी एएनआई ने सैन्‍य सूत्रों के हवाले से बताया, नरवणे ने वहां पर आतंकवाद विरोधी अभियानों की समीक्षा की और घाटी समेत कश्‍मीर के कई हिस्‍सों की सुरक्षा स्थिति का जायजा लिया. नरवणे ने भारतीय सेना की चौकियों का भी दौरा किया.

    PoK में अब भी 20 कैंप में 350 से ज्यादा आतंकी मौजूद: नरवणे
    अभी कुछ दिन पहले ही सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने कहा था कि पाकिस्तान अब भी आतंकियों का पनाहगार बना हुआ है. सेना प्रमुख ने दावा किया कि पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में 15 से 20 आतंकी कैंप हो सकते हैं. इतना ही नहीं इन आतंकी कैंप के अंदर 250 से लेकर 350 से ज्यादा आतंकी हो सकते हैं. उनका कहना है कि ये सिर्फ आकलन है. आतंकियों की संख्या इससे भी ज्यादा हो सकती है.

    उन्होंने कहा, अगर फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) उन पर भारी दबाव बनाता है तो उन्हें अपनी बयानबाजी और आतंकी गतिविधियों पर विचार करना पड़ सकता है.' नरवणे ने कहा, 'घाटी में पिछले दिनों में आतंकी गतिविधियों में आई कमी की एक बड़ी वजह एफएटीएफ भी हो सकती है.'

    चीन को भी पता हर वक्त साथ नहीं दे सकता
    एफएटीएफ (FATF) द्वारा पाक को ग्रे लिस्ट में डालने पर सेना प्रमुख ने कहा, 'चीन को भी इस बात का अहसास है कि वह अपने सबसे खास दोस्त का हर वक्त और हर बार साथ नहीं दे सकता.'

    पाकिस्तान के नापाक इरादों को ध्वस्त करने में सक्षम
    आर्मी चीफ नरवणे ने कहा कि हमारे पास पाकिस्तान की आतंकी कारगुजारी के बारे में तमाम इनपुट हैं. लेकिन हम बता देना चाहते हैं कि हम पाकिस्तानी बैट कार्रवाई को विफल करने में सक्षम हैं.

    ये भी पढ़ें: पाक ने UNHRC में कश्‍मीर का दुखड़ा रोया, फिर भी नहीं मिला किसी देश का साथ

    ये भी पढ़ें: आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे पहुंचे जम्‍मू कश्‍मीर, सैन्‍य चौकियों का करेंगे दौरा

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.