अपना शहर चुनें

States

पाकिस्तान की तरफ से भारतीय सीमा में घुसे 2 ड्रोन, BSF ने दागी गोलियां: सूत्र

बीएसएफ के जवानों ने ड्रोन पर गोलिया चलाई हैं. (सांकेतिक तस्वीर)
बीएसएफ के जवानों ने ड्रोन पर गोलिया चलाई हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

Pakistani Drones Cross International Borders In Samba Sector: समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि इन दोनों ड्रोन ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पार की. सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने ड्रोन पर फायरिंग की. जवानों ने पूरे इलाके में घेराबंदी की हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2020, 12:19 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के सांबा सेक्टर (Samba Sector of Jammu-Kashmir) में शुक्रवार शाम 6 बजे पाकिस्तान की तरफ से आए दो ड्रोन (Drones) को देखा गया. समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि इन दोनों ड्रोन ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पार (Crossed International Border) की. सीमा सुरक्षा बल (BSF) के जवानों ने ड्रोन पर फायरिंग की. जवानों ने पूरे इलाके में घेराबंदी की हुई है.

पाकिस्तानी बल घुसपैठियों की मदद के लिए गोलीबारी करते हैं: भारत
भारत ने पाकिस्तान की आलोचना करते हुए कहा कि 2003 में हुए संघर्ष विराम समझौते का पालन करने और संयम बरतने की लगातार मांग के बावजूद पाकिस्तानी बल घुसपैठियों की मदद के लिए गोलीबारी (कवर फायर) करते हैं. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि आतंकवादियों की लगातार घुसपैठ और आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए हथियारों का इस्तेमाल बिना रूके जारी है. उन्होंने एक ऑनलाइन ब्रीफिंग में कहा कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर तैनात पाकिस्तानी बलों के समर्थन के बिना ऐसी गतिविधियां संभव नहीं हैं.





उन्होंने कहा, 'संयम बरतने और शांति बनाए रखने के लिए 2003 में हुए संघर्ष विराम समझौते का पालन करने की लगातार मांग के बावजूद पाकिस्तानी बल घुसपैठियों की मदद के लिये गोलीबारी करते हैं.' उन्होंने कहा कि पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारियों को विदेश मंत्रालय ने 14 नवंबर को तलब किया था और 13 नवंबर को जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास कई सेक्टरों में पाकिस्तानी बलों द्वारा बिना उकसावे के संघर्ष विराम का उल्लंघन करने पर कड़ा विरोध दर्ज कराया गया था. इन घटनाओं में चार असैनिक नागरिकों की मौत हो गई थी और 19 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए थे.

ये भी पढ़ें: मालाबार युद्धाभ्यास: समुद्र में 4 देशों की सेना ने चीन को दिखाया दम, एक साथ गरजे भारत-अमेरिका के लड़ाकू विमान

ये भी पढ़ें: IAF प्रमुख RKS भदौरिया ने स्वदेश निर्मित हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर में भरी उड़ान

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बुधवार को नगरोटा में चार आतंकियों को मार गिराया था. नगरोटा मुठभेड़ में मारे गए चारों आतंकी जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन से जुड़े हुए थे. सूत्रों के अनुसार चारों आतंकी भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा से रात में घुसपैठ करके सांबा पहुंचे थे. यहां पहले से इंतजार कर रहा इनका एक कोरियर जो ट्रक लेकर आया था वह इनको लेकर कश्मीर जाने की फिराक में था.


राज्य में डीडीसी चुनाव को लेकर पहले ही आशंका जाहिर की जा चुकी है कि आतंकी इसमें बाधा पहुंचा सकते हैं. जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (DGP) दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) ने भी बीते सोमवार को कहा था कि आतंकवादी आगामी जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव को बाधित करने का प्रयास कर सकते हैं. उन्होंने कहा था कि सीमापार से केंद्र शासित प्रदेश में समस्या उत्पन्न करने की लगातार कोशिश की जा रही है. उल्लेखनीय है कि डीडीसी का पहले चरण का चुनाव 28 नवंबर को होना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज