होम /न्यूज /राष्ट्र /8 घंटे में 2 धमाके, IED संग महिला अरेस्ट; अमित शाह के दौरे से पहले कश्मीर में आतंकी साजिशें

8 घंटे में 2 धमाके, IED संग महिला अरेस्ट; अमित शाह के दौरे से पहले कश्मीर में आतंकी साजिशें

गृहमंत्री अमित शाह के दौरे से पहले कश्मीर में आतंकी साजिशें देखने को मिली हैं.

गृहमंत्री अमित शाह के दौरे से पहले कश्मीर में आतंकी साजिशें देखने को मिली हैं.

Amit Shah Kashmi Visit: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के कश्मीर दौरे से पहले घाटी में एक बार फिर से नापाक हरकतों की बौछार ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह 3 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर में तीन दिवसीय दौरे पर आ रहे हैं. इस दौरान अमित शाह माता वैष्णो देवी के दर्शन के साथ-साथ सीमावर्ती जिला राजौरी में एक बड़ी रैली को संबोधित करेंगे. इसके बाद कश्मीर के बारामुला में भी रैली करेगें. हालांकि, अमित शाह के कश्मीर दौरे से ठीक पहले घाटी को अशांत करने की आतंकी साजिशें होने लगी हैं. अमित शाह के दौरे से ठीक पहले उधमपुर में महज 8 घंटे के भीतर दो ब्लास्ट और पुंछ में आईईडी के साथ एक महिला का गिरफ्तार होना यह बताता है कि पाकिस्तान की बौखलाहट कितनी है और किस तरह से आतंकी सगंठन भी बौखलाए हुए हैं.

उधमपुर में 8 घंटे में दो धमाके
दरअसल, बुधवार की रात उधमपुर में बस स्टैंड के पास खड़ी बस में अचानक धमाका हुआ. इस ब्लास्ट में दो लोग घायल हो गए. अभी पुलिस और एजेंसियां इस ब्लास्ट की गुत्थी सुलझा पातीं कि तब तक गुरुवार तड़के एक और बस में धमाका हो गया. केवल 8 घंटे के भीतर ही उधमपुर में दो ब्लास्ट हुए हैं. आईजी जम्मू जोन मुकेश सिंह के अनुसार, दोनों एक ही तरह के धमाके हैं, जो बस के भीतर हुए हैं. एक रात को हुआ था और एक सुबह. हम हर पहलू की जांच कर रहे हैं. ये स्टीकी बम भी हो सकते हैं. सेना की टीम भी आई है और हम उनसे भी विचार-विमर्श कर रहे हैं. इस मामले में हमारे पास कुछ लीड हैं, जिन पर काम जारी है.

पुंछ में आईईडी के साथ महिला गिरफ्तार
वहीं, पुंछ जिला में एक महिला आईईडी के साथ पकड़ी गई है, जिसका नाम जतून अख्तर है. सुरक्षा एजेंसियां उससे भी पूछताछ कर रही है. उधमपुर में धमाके होना और महिला का विस्फोटक के साथ पकड़े जाना, ये दोनों बात इसलिए भी सुरक्षा के लिहाज से काफी अहम हैं, क्योंकि राजौरी में गृहमंत्री अमित आ रहे हैं और उनके दौरे से पहले इन दोनों घटनाओं का होना सुरक्षा एजेसियों व पुलिस के लिए भी एक अलर्ट है. बताया जा रहा है कि राजौरी की रैली में सैकडों लोग पुंछ से भी आएगें. ये दोनों जिले आपस में जुड़े हैं, यही वजह है कि सुरक्षा एजेसियां इसको भी काफी गंभीरता से ले रही है.

क्यों अहम है अमित शाह का राजौरी दौरा
गृहमंत्री अमित शाह का राजौरी दौरा इसलिए भी अहम है क्योंकि पिछले कई सालों से पहाड़ी दर्जे की मांग पर दोनों जिलों राजौरी और पुंछ में घमासान चल रहा है. एसटी का दर्जा कई लोगों को मिल चुका है मगर इस इलाके में पहाड़ी दर्जा पाने के लिए हजारों लोग अब इस दौरे से आस लगाए बैठे हैं. जम्मू-कश्मीर यूनिट द्वारा जारी भाजपा के घोषणा-पत्र में भी इन जिलों मे पहाड़ी दर्जा दिए जाने की बात कही गई थी. इसलिए इस रैली में भारी संख्या मे भीड़ आ सकती है. अमित शाह दौरे को लेकर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं. पुलिस के उच्च आधिकारी राौजरी व पुंछ में डेरा डाले हुए हैं और खासकर उन इलाकों में जो एलओसी से सटे हैं.

पीएम मोदी के दौरे से पहले भी हुई थी साजिश
बता दें कि पाकिस्तान की तरफ से हर बार घाटी को अशांत करने की कोशिशें होती रहती हैं. जम्मू-कश्मीर में जब भी कोई बड़ा सियासी दौरा होता है तो उससे पहले इसी तरह की नापाक साजिशें होती हैं. इससे पहले पीएम मोदी के दौरे से पहले भी जम्मू में एक मुठभेड़ हुई थी, जिसमें दो आतंकी मारे गए थे. इतना ही नहीं, पीएम मोदी की रैली स्थल से तीन किलोमीटर दूर रएक आईईडी ब्लास्ट भी हुआ था.

Tags: Amit shah, Jammu and kashmir, Udhampur

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें