उबर ड्राइवर ने बाल मुंडवाये तो सॉफ्टवेयर ने पहचानने से किया इनकार, नहीं मिल रहा काम

उबर ड्राइवर श्रीकांत ने तिरुमला तिरुपति देवस्थानम में अपने बाल अर्पित किए थे.

उबर ड्राइवर श्रीकांत ने तिरुमला तिरुपति देवस्थानम में अपने बाल अर्पित किए थे.

उबर ड्राइवर श्रीकांत को विश्‍वास था कि वह अपने बाल तिरुमला तिरुपति देवस्थानम में अर्पित करेंगे तो उनके जीवन में सुख और समृद्धि आएगी. हालांकि ऐसा नहीं हुआ और उन्‍हें अब अपनी पहचान ढूंढने के लिए ही जद्दोजहद करनी पड़ रही है.

  • Share this:
हैदराबाद. किसी के चेहरे पर उसके बाल का कितना अहम रोल होता है इसका एक उदाहरण हैदराबाद में देखने को मिला. हालांकि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस घटना को देश की बड़ी कार सर्विस कंपनी उबर की उदासीनता से भी देखा जा सकता है. दरअसल हैदराबाद के उबर ड्राइवर श्रीकांत ने तिरुमला तिरुपति देवस्थानम में अपने बाल अर्पित किए थे. श्रीकांत को विश्‍वास था कि वह अपने बाल अर्पित करेंगे तो उनके जीवन में सुख और समृद्धि आएगी. हालांकि ऐसा नहीं हुआ और उन्‍हें अब अपनी पहचान ढूंढने के लिए ही जद्दोजहद करनी पड़ रही है.

दरअसल उबर ड्राइवर श्रीकांत ने बाल कटवाने के बाद जब पोर्टल पर लॉगइन करने की कोशिश की तो कंपनी के सॉफ्टवेयर ने उन्‍हें पहचानने से इनकार कर दिया. श्रीकांत का कहना है कि जब उनका कंपनी में लॉगइन किया गया था उस वक्‍त जो फोटो सॉफ्टवेयर में डाली गई थी उससे अब मेरा चेहरा काफी बदल गया है. श्रीकांत ने कहा कि उन्‍होंने चार बार अपने फेस के जरिए लॉगइन करने की कोशिश की लेकिन हर बार सॉफ्टवेयर ने उन्‍हें पहचानने से इनकार कर दिया.



Youtube Video

श्रीकांत ने कहा कि एक महीने से अधिक समय हो चुका है लेकिन सॉफ्टवेयर उनका चेहरा नहीं पहचान रहा है. श्रीकांत ने कहा एक महीने से मेरे पास कोई काम नहीं है. श्रीकांत ने कहा कि उनके पास कंपनी के सभी तरह के दस्‍तावेज मौजूद हैं इसके बाद भी वह काम नहीं कर पा रहे हैं. श्रीकांत ने बताया कि मैंने कई बार उबर कार्यालय का चक्‍कर भी लगाया लेकिन उन्‍होंने मुझे चालक के रूप में बहाल करने से इनकार कर दिया.

इसे भी पढ़ें :- Ola और Uber से सफर करने वालों के लिए बड़ी खबर, सरकार ने जारी किए नए नियम

श्रीकांत ने कहा कि मेरा पूरा परिवार मुझ पर निर्भर है. श्रीकांत साल 2019 में उबर के साथ जुड़े थे. उन्‍होंने अब तक लगभग 1,428 यात्राएं पूरी की हैं और उन्‍हें 4.67 स्टार रेटिंग मिली हुई है. इसके बावजूद कंपनी उनके साथ भेदभाव कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज