Home /News /nation /

30 साल साथ रहे तो कुछ नहीं हुआ तो अब क्या होगा, BJP से नजदीकी पर बोले उद्धव

30 साल साथ रहे तो कुछ नहीं हुआ तो अब क्या होगा, BJP से नजदीकी पर बोले उद्धव

सीएम उद्धव ठाकरे. (File pic)

सीएम उद्धव ठाकरे. (File pic)

उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा कि बीजेपी-शिवसेना तीस साल तक गठबंधन में रहे, तब कुछ नहीं हुआ तो अब क्या होगा. मेरे दोनों तरफ ये दोनों बैठे हैं (बालासाहेब थोराट और अजित पवार), मैं इनके बीच से उठ कर कहां जाऊंगा?

मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने मंगलवार को बीजेपी से नजदीकियों पर दिलचस्प बयान दिया है. उद्धव ठाकरे ने कहा, 'बीजेपी-शिवसेना तीस साल तक गठबंधन में रहे, तब कुछ नहीं हुआ तो अब क्या होगा. मेरे दोनों तरफ ये दोनों बैठे हैं (बालासाहेब थोराट और अजित पवार), मैं इनके बीच से उठ कर कहां जाऊंगा?'

वहीं विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव को लेकर उन्होंने कहा है कि कोरोना की स्थिति नियंत्रण में आने के बाद सारे एहतियात बरतते हुए चुनाव होगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि अगर ओबीसी आरक्षण की मांग हमने की है तो क्या ये मेरा अपराध है? अगर केंद्र से हमने ओबीसी का डेटा मांगा तो विपक्ष (बीजेपी) को बुरा क्यों लग रहा है.

बीजेपी-शिवसेना की नजदीकियों की कैसे शुरू हुई चर्चा?
दरअसल बीजेपी विधायक आशीष शेलार और शिवसेना सांसद संजय राउत के साथ हुई सीक्रेट बैठक के बाद एक बार फिर इस चर्चा ने तूल पकड़ना शुरू कर दिया है कि महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना एक बार फिर साथ आने वाले हैं. हालांकि संजय राउत ने स्पष्ट कहा है कि ऐसा कुछ नहीं है. इसी बीच विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक बड़ा बयान दिया था.

क्या बोले थे देवेंद्र फडणवीस
देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि शिवसेना से कोई दुश्मनी नहीं, वैचारिक मतभेद आ गए हैं. राजनीति में अगर-मगर का कोई मतलब नहीं होता. स्थितियों को देखकर निर्णय लिया जाता है. इस मौके पर उन्होंने शिवसेना और बीजेपी में अलगाव की वजहों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि हमारा हाथ छोड़ कर हमारे मित्र जिनके विरोध में चुनाव लड़ कर आए, उनका हाथ पकड़ कर चले गए. इसीलिए मतभेद पैदा हुआ. लेकिन वे हमारे शत्रु नहीं हैं.

Tags: CM Uddhav Thackeray, Devendra Fadnavis

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर