फ्रांस और विएना में हुए आतंकी हमलों के बाद ब्रिटेन पर भी मंडराने लगा खतरा!

फ्रांस में हुए आतंकी हमले के बाद फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के बयान को लेकर ब्रिटेन की राजधानी लंदन में भी जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हुए हैं. (AP-Image)
फ्रांस में हुए आतंकी हमले के बाद फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के बयान को लेकर ब्रिटेन की राजधानी लंदन में भी जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हुए हैं. (AP-Image)

मंगलवार को ब्रिटेन ने आतंकी हमले के थ्रेट लेवल (Threat Level) को severe यानी 'गंभीर' माना. सुरक्षा एजेंसियों को इसके बाद और चौकन्ना रहने की ताकीद कर दी गई है. ये थ्रेट लेवल ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी MI5 तय करती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2020, 5:30 AM IST
  • Share this:
लंदन. यूरोपीय देशों फ्रांस (France) और ऑस्ट्रिया (Austria) में हमले के बाद ब्रिटेन (Britain) ने भी अपने देश में आतंकी हमले के मद्देनजर सुरक्षा इंतजाम कड़े कर दिए हैं. मंगलवार को ब्रिटेन ने आतंकी हमले के थ्रेट लेवल (Threat Level) को severe यानी 'गंभीर' माना. सुरक्षा एजेंसियों को इसके बाद और चौकन्ना रहने की ताकीद कर दी गई है.

थ्रेट लेवल ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी MI5 तय करती है
ब्रिटेन में आतंकी हमलों से निपटने के लिए पांच तरह के थ्रेट लेवल का इस्तेमाल किया जाता है. 'गंभीर' थ्रेट लेवल पांचों में ऊपर से दूसरे नंबर पर आता है और इसका मतलब होता है कि हमला होने की आशंकाएं काफी प्रबल हैं. ये थ्रेट लेवल ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी MI5 तय करती है. मंगलवार को एजेंसी की वेबसाइट पर थ्रेट लेवल को severe कर दिया गया है.

क्या बोलीं गृह मंत्री प्रीति पटेल
हालांकि ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल ने साफ किया है कि ये बचाव उपायों के तहत किया गया है न कि किसी हमले की धमकी के बाद. उन्होंने कहा कि लोगों को सतर्क रहना चाहिए और अपने इर्द-गिर्द किसी भी संदेहास्पद गतिविधि की रिपोर्ट तुरंत पुलिस को करें. गौरतलब है कि मंगलवार को ऑस्ट्रिया के वियना में 6 जगह आतंकी हमले हुए जिनमें 5 लोगों की मौत हो गई और 22 घायल हो गए. कुछ हथियारबंद बंदूकधारियों ने छह जगहों पर गोलीबारी की. ऑस्ट्रिया के चांसलर सेबेल्टियन क्रूज़ ने इसे एक 'आतंकवादी हमला' बताया है और कहा है कि एक हमलावर मारा गया.



फ्रांसीसी राष्ट्रपति के बयान पर दुनियाभर में विरोध प्रदर्शन
इससे पहले फ्रांस में हाल-फिलहाल दो बार आतंकी हमले हो चुके हैं. एक फ्रांसीसी टीचर की बेरहम हत्या के बाद राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने अपने बयान में कहा था कि इस्लाम पूरी दुनिया में संकट में है. उन्होंने हमले को इस्लामिक टेरर अटैक बताया था जिसके बाद उनके बयान का इस्लामिक दुनिया के कई देशों में विरोध किया गया. अब वियना के हमले में भी अतिवादी इस्लामिक संगठनों का हाथ होने की बात कही जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज