उमा भारती का दावा- महात्मा गांधी की हत्या से कांग्रेस को फायदा हुआ

भाषा
Updated: October 12, 2017, 5:56 PM IST
उमा भारती का दावा- महात्मा गांधी की हत्या से कांग्रेस को फायदा हुआ
केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने दावा किया कि महात्मा गांधी की हत्या से कांग्रेस को फायदा हुआ. Image: Getty Images
भाषा
Updated: October 12, 2017, 5:56 PM IST
भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने आज दावा किया कि महात्मा गांधी की हत्या से कांग्रेस को फायदा हुआ क्योंकि उन्होंने स्वतंत्रता के बाद पार्टी को भंग करने की बात कही थी. महात्मा गांधी की हत्या की फिर से जांच कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका पर हाल में अदालत की टिप्पणी के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने यह बात कही.

उमा ने पूछा, ‘गोडसे द्वारा गांधी जी की हत्या के बाद से ही यह मामला चल रहा है. आज मैं देश से आपके (मीडिया) माध्यम से पूछती हूं कि गांधी जी की हत्या से किसे फायदा मिला?’ उन्होंने कहा कि जहां संघ और जनसंघ को नुकसान हुआ और देश को क्षति हुई वहीं गांधी जी की हत्या से केवल कांग्रेस को फायदा मिला.

पेयजल और स्वच्छता मंत्री ने दावा किया, ‘क्योंकि गांधी जी ने सुझाव दिए थे कि कांग्रेस को भंग कर दिया जाए (स्वतंत्रता के बाद). वास्तव में वह घोषणा कर चुके थे कि कांग्रसे को भंग किया जाएगा.’ उत्तर गुजरात के बनासकांठा जिले में भाजपा की ‘गुजरात गौरव यात्रा’ के दौरान वह मीडिया से बात कर रही थीं.

महात्मा गांधी की 30 जनवरी 1948 को नयी दिल्ली में नजदीक से गोडसे ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. वह हिंदू राष्ट्रवाद का पक्षधर था.

मुंबई के पंकज फडणीस ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कई आधार पर जांच फिर से कराए जाने की मांग की है और दावा किया है कि यह इतिहास के सबसे बड़े लीपापोती में शामिल है. फडणीस शोधकर्ता हैं और वह अभिनव भारत के न्यासी भी हैं.

उमा उन मंत्रियों में शामिल हैं जो भाजपा की यात्रा में हिस्सा ले रही हैं जिसका उद्देश्य विधानसभा चुनावों से पहले सत्तारूढ़ दल के समर्थन में लोगों को एकजुट करना है. यात्रा के दौरान उन्होंने देवदार, थरड, वाव और राधानपुर विधानसभा क्षेत्रों में आम सभा को संबोधित किया.

ये भी पढ़ें-
गांधी जी की हत्या से सावरकर का नाम हटाने की मांग
'गांधी की हत्या की नैतिक ज़िम्मेवारी नेहरू को लेनी चाहिए थी'


 
First published: October 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर