कोरोनाः 12 राज्यों में ऑक्सीजन की जरूरत, 50 हजार MT आयात करेगी सरकार

गुजरात, कर्नाटक और राजस्थान में ऑक्सीजन प्रोडक्शन तो है, लेकिन मामले बढ़ने के साथ इसकी डिमांड काफी बढ़ गयी है. (Pic- News18)

गुजरात, कर्नाटक और राजस्थान में ऑक्सीजन प्रोडक्शन तो है, लेकिन मामले बढ़ने के साथ इसकी डिमांड काफी बढ़ गयी है. (Pic- News18)

PM-CARES Fund: महाराष्ट्र में जरूरत के हिसाब से ऑक्सीजन का प्रोडक्शन नहीं है, जबकि मध्य प्रदेश के कोई उत्पादन क्षमता ही नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 4:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus in India) के बढ़ते मामलों के चलते कई राज्यों में हो रही ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए केंद्र सरकार ने ऑक्सीजन का आयात करने का फैसला लिया है. इसके तहत 50 हजार मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन आयात करेगा, जिसके लिए टेंडर फ्लोट किया जाएगा. इसके साथ ही 100 नए अस्पतालों में पीएम केयर फंड के तहत ऑक्सीजन प्लांट भी बनाए जाएंगे.

बता दें कि देश में 12 राज्य ऐसे हैं, जहां सबसे ज्यादा कोरोना वायरस संक्रमण के मामले आ रहे हैं और इन राज्यों में ऑक्सीजन की मांग बढ़ गई है. ये राज्य महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, गुजरात, यूपी, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान हैं. हालांकि ये जानना बहुत महत्वपूर्ण है कि महाराष्ट्र में जरूरत के हिसाब से ऑक्सीजन का प्रोडक्शन नहीं है, जबकि मध्य प्रदेश के कोई उत्पादन क्षमता ही नहीं है. जहां तक बात गुजरात, कर्नाटक और राजस्थान की है तो इन राज्यों में ऑक्सीजन प्रोडक्शन तो है, लेकिन मामले बढ़ने के साथ इसकी डिमांड काफी बढ़ गयी है.

Youtube Video


पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 61,695 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 53,335 लोग इलाज पाकर स्वस्थ हुए हैं. राज्य में 349 लोगों की संक्रमण के चलते मौत हुई है. दूसरी ओर में मुंबई में संक्रमण के 8,217 नए केस आए हैं. मायानगरी में 49 लोगों की मौत हुई है, जबकि 10,097 लोग इलाज पाकर स्वस्थ हुए हैं. मुंबई में संक्रमण के कुल मामले 5,53,159 हैं, जबकि 85,494 एक्टिव केस हैं. एएनआई ने महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्रालय के हवाले से कहा है कि राज्य में कुल 36 लाख 39 हजार 855 केस हैं, जबकि 29 लाख 59 हजरा 056 लोग इलाज पाकर स्वस्थ हुए हैं. मरने वालों का आंकड़ा 59,153 है और एक्टिव केस कुल 6,20,060 हैं.
दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान

दूसरी ओर दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सप्ताहांत में कर्फ्यू लगाने समेत कई पाबंदियों की बृहस्पतिवार को घोषणा की. इस दौरान मॉल, जिम, स्पा और सभागार बंद रहेंगे. बुधवार को एक दिन में सर्वाधिक 17,282 नये मामले सामने आने के एक दिन बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि रेस्तरांओं के भीतर बैठकर खाना खाने की अनुमति नहीं होगी और सिनेमाघर में भी केवल 30 प्रतिशत दर्शक ही जा सकेंगे. केजरीवाल ने कहा कि सप्ताहांत के कर्फ्यू के दौरान आवश्यक सेवाएं और विवाह समारोह प्रभावित नहीं होंगे और विवाह कार्यक्रमों में शामिल होने वालों को पास जारी किए जाएंगे.





उन्होंने कहा कि अस्पताल, रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा जाने वालों को भी पास जारी किये जाएंगे. केजरीवाल सरकार पहले ही 30 अप्रैल तक दिल्ली में रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक रात्रि कर्फ्यू लागू कर चुकी है. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि अस्पतालों में बिस्तरों की कमी नहीं है और कोविड मरीजों के लिए अब भी 5,000 बेड उपलब्ध हैं. उन्होंने आश्वासन दिया कि बड़े पैमाने पर बिस्तर उपलब्ध कराने के लिए प्रयास जारी हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज