लाइव टीवी

...जब एक ही टेबल पर अमित शाह और ममता बनर्जी ने खाया खाना, नीतीश और पटनायक भी रहे मौजूद

News18Hindi
Updated: February 28, 2020, 5:46 PM IST
...जब एक ही टेबल पर अमित शाह और ममता बनर्जी ने खाया खाना, नीतीश और पटनायक भी रहे मौजूद
गृहमंत्री अमित शाह, ममता बनर्जी, नीतीश कुमार, नवीन पटनायक और धर्मेंद्र प्रधान ने एक साथ लंच किया.

गृहमंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah), पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee), नीतीश कुमार, नवीन पटनायक और धर्मेंद्र प्रधान ने एक साथ लंच किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2020, 5:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. ओडिशा के भुवनेश्‍वर में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) और पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने एक साथ लंच किया. उनके साथ ओडिशा (Odisha) के मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक, बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मौजूद थे. ऐसा बताया जा रहा है कि सभी इन सभी नेताओं ने पटनायक के आवास पर ही लंच किया.

न्‍यूज एजेंसी एएनआई द्वारा जारी तस्‍वीरों में भी गृहमंत्री अमित शाह, ममता बनर्जी, नीतीश कुमार, नवीन पटनायक और धर्मेंद्र प्रधान एक साथ लंच करते दिख रहे हैं. सूत्रों के अनुसार शाह गृह मंत्री बनने के बाद पहली बार ओडिशा की यात्रा पर आए हैं. पटनायक ने शाह को अपने आवास पर दोपहर के भोजन के लिए आमंत्रित किया था. ममता बनर्जी और नीतीश कुमार को भी आमंत्रित किया गया था.





अमित शाह की अध्यक्षता में ईजेडसी की बैठक
दरअसल, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में पूर्वी क्षेत्रीय परिषद (ईजेडसी) की बैठक शुक्रवार को यहां चल रही है. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बैठक में भाग नहीं ले रहे हैं. ईजेडसी की 24वीं बैठक में ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और पश्चिम बंगाल तथा बिहार के उनके समकक्ष क्रमश: ममता बनर्जी और नीतीश कुमार भाग ले रहे हैं. बैठक में भाग लेने में असमर्थ सोरेन ने राज्य का प्रतिनिधित्व करने के लिए वित्त मंत्री रामेश्वर ओरांव को नियुक्त किया है.

सूत्रों के अनुसार सोरेन की बैठक में अनुपस्थिति का कोई कारण नहीं बताया गया है लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि शायद झारखंड विधानसभा का बजट सत्र शुरू होने के कारण वह नहीं आए. पटनायक परिषद के उपाध्यक्ष हैं और इसमें राज्यों तथा केंद्र के वरिष्ठ अधिकारी भाग ले रहे हैं.

अमित शाह की जनसभा को लेकर विशेष प्रबंध
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार वामपंथी उग्रवाद के अलावा ईजेडसी की बैठक में कोयला-रॉयल्टी में संशोधन, जघन्य अपराधों और रेल-संपर्क परियोजनाओं जैसे मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किये जाने की संभावना है. एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में कई वीवीआईपी लोगों की मौजूदगी के मद्देनजर ओडिशा पुलिस ने सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये हैं. उन्होंने बताया कि संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में यहां शाह की जनसभा के लिए विशेष प्रबंध किये गए हैं.

उन्होंने कहा कि देश की सीमाओं के पार मवेशियों की तस्करी, दूर-दराज के इलाकों में दूरसंचार और बैंकिंग बुनियादी ढांचे की कमी, पेट्रोलियम परियोजनाओं, केंद्रीय रूप से एकत्र किए गए राजस्व पर साझा प्रणाली और अन्य पर भी चर्चा की जा सकती है. बैठक के मद्देनजर मुख्य सचिव एके त्रिपाठी ने गुरुवार को पत्रकारों से कहा था, 'हम कोयला-रॉयल्टी संशोधन और ओडिशा के सुदूर क्षेत्रों में 11,000 गांवों में मोबाइल फोन संपर्क से संबंधित मुद्दों को उठाएंगे.'

ये भी पढ़ें:- 

शिवसेना ने सामना में पूछा सवाल, दिल्ली में हिंसा के दौरान कहां थे गृह मंत्री?
बिहार में NRC-NPR के खिलाफ प्रस्ताव पर बोले तेजस्वी यादव- अमित शाह को हजार किलोमीटर पीछे धकेल दिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 28, 2020, 5:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading