चक्रवाती तूफान पर अमित शाह और कैबिनेट सचिव की हाई लेवल मीटिंग, दिए अहम निर्देश

चक्रवाती तूफान पर गृह मंत्री ने बैठक की.

चक्रवाती तूफान पर गृह मंत्री ने बैठक की.

Cyclone Tauktae: अमित शाह ने कहा कि चक्रवात आने पर पावर सप्लाई में कोविड मरीजों और अस्पतालों में किसी प्रकार की कमी ना हो. चक्रवात प्रभावित राज्यों के डीएम को निर्देश दिए गए कि ऑक्सीजन सप्लाई में कमी ना हो.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस महामारी के बीच देश पर एक और संकट मंडरा रहा है. अरब सागर से उठे भीषण चक्रवाती तूफान ‘टाउते’ ने अब कई राज्‍यों में दस्‍तक दे दी है. इस बीच, गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को एक बैठक में अधिकारियों के साथ चक्रवात के एक्‍शन प्‍लान पर चर्चा की. साथ ही गृह मंत्री ने चक्रवात प्रभावित राज्यों को पावर बैकअप की समुचित व्यवस्था के निर्देश दिए हैं. वहीं, कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता वाली राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की रविवार को हुई बैठक में देश के शीर्ष नौकरशाह ने एजेंसियों को निर्देश दिया कि वे सुनिश्चित करें कि चक्रवात ‘तौकते’ के कारण प्रभावित राज्यों में कोविड अस्पतालों का कामकाज निर्बाध रूप से चलता रहे और कोई जनहानि न हो.

सरकार द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि बैठक में विभिन्न केंद्रीय एजेंसियों के अधिकारी, गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के मुख्य सचिव तथा केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप, दादरा और नगर हवेली तथा दमन एवं दीव के प्रशासक ने हिस्सा लिया. एनसीएमसी की यह बैठक चक्रवाती तूफान से निपटने के लिये केंद्र व राज्यों की एजेंसियों की तैयारी की समीक्षा के लिये थी. चक्रवाती तूफान के 18 मई की सुबह गुजरात के तट पर दस्तक देने की उम्मीद है और उस दौरान 150 से 160 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलने, भारी बारिश होने की आशंका है.

लोगों को सुरक्षित निकालने के सभी उपाय किए जाने चाहिए: गौबा

केंद्र व राज्यों की एजेंसियों की तैयारी की समीक्षा करते हुए गौबा ने कहा कि चक्रवात प्रभावित इलाकों से लोगों को सुरक्षित निकालने के लिये सभी उपाय किये जाने चाहिए जिससे किसी तरह की जनहानि या नुकसान न हो. बयान में गौबा को उद्धृत करते हुए कहा गया, 'अस्पतालों और कोविड-19 केंद्रों के संचालन में किसी भी तरह की बाधा से बचने और मरीजों को निर्बाध ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिये सभी कदम उठाने होंगे.'
ये भी पढ़ें: ‘टाउते’ चक्रवात: गोवा में भारी बारिश एवं तेज हवाओं के कारण बिजली गुल

ये भी पढ़ें: तूफान 'टाउते' से आई तबाही में प्रभावित राज्यों के लोगों की मदद करें BJP कार्यकर्ता: जेपी नड्डा

इसमें कहा गया कि इस संदर्भ में आवश्यक प्रबंध किये गए हैं. भारत कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर का सामना कर रहा है. कैबिनेट सचिव ने संबंधित एजेंसियों को निर्देश दिया कि वे प्रभावित राज्यों को जरूरी सहायता मुहैया कराने के लिये समन्वय में काम करें. उन्होंने कहा, 'बिजली, टेलीकॉम और अन्य जरूरी सेवाओं की बहाली के लिये इंतजामों की तैयारी सुनिश्चित की जानी चाहिए.'




चक्रवात की समीक्षा बैठक में अमित शाह ने कहा कि चक्रवात आने पर पावर सप्लाई में कोविड मरीजों और अस्पतालों में किसी प्रकार की कमी ना हो. चक्रवात प्रभावित राज्यों के डीएम को निर्देश दिए गए कि ऑक्सीजन सप्लाई में कमी ना हो. अमित शाह ने कहा कि चक्रवात के समय लोकल बॉडीज सक्रिय रहें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज