आज जवान आंख से आंख डाल देता है जवाब पहले जारी होते थे डिप्लोमैटिक जवाब : शाह

केंद्रीय गृहमंत्री अ​मित शाह ने कच्छ में विकास उत्सव 2020 कार्यक्रम का किया उद्घाटन.
केंद्रीय गृहमंत्री अ​मित शाह ने कच्छ में विकास उत्सव 2020 कार्यक्रम का किया उद्घाटन.

अमित शाह ने कहा, भूकंप के बाद कच्छ और भुज अगर आज फिर से खड़ा हो गया है तो इसका पूरा श्रेय मोदी जी की दूरदर्शिता और भुज के लोगों के संघर्ष करने के जज्बे और परिश्रम को जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 5:55 PM IST
  • Share this:
कच्छ. गुजरात के कच्छ में विकास उत्सव 2020 कार्यक्रम का उद्घाटन करने पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अ​मित शाह ने कहा, 2001 में भुज में जब भूकंप आया था तब मैं यहां आया था. उस वक्त ये जगह पूरी तरह से जर्जर हो गई थी. भूंकप ने यहां की जमीन को हिलाकर रख दिया था लेकिन अब मॉल और इमारतों ने यहां की तस्वीर ही बदल दी है. ये विकास भुज के लोगों के लिए सबूत है कि काम हो रहा है.

अमित शाह ने कहा, भूकंप के बाद कच्छ और भुज अगर आज फिर से खड़ा हो गया है तो इसका पूरा श्रेय मोदी जी की दूरदर्शिता और भुज के लोगों के संघर्ष करने के जज्बे और परिश्रम को जाता है. गृहमंत्री ने कहा, इस 'विकासोत्सव' का उद्देश्य हमारे सीमावर्ती गांवों के निवासियों को सुविधाएं प्रदान करना है जो अन्य गांवों में उपलब्ध हैं. हमारे रक्षा बलों के साथ सुरक्षा बनाए रखने में सीमावर्ती नागरिक भी बेहद अहम हैं.


शाह ने कहा प्रधानमंत्री मोदी हमेशा से कहते रहे हैं कि सीमा पर बसे गांवो में हर योजना लागू होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि सीमावर्ती इलाकों से पलायन नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि एक समय था जब हमारे देश, हमारे जवानों पर हमला होता था तब कोई कार्रवाई नहीं होती थी केवल बयान जारी किए जाते थे लेकिन आज के समय में बीसएफ के जवान आंख में आंख डालकर दुश्मनों को जवाब देने लगे हैं.





इसे भी पढ़ें :- अमित शाह के मिशन बंगाल का आगाज, दो दिन के दौरे में क्या छिपा है संदेश

दिवाली मनाएं पर सावधानी की भी है जरूरत
शाह ने इस मौके पर कहा, दिवाली है, उत्सव है इसे मनाएं लेकिन साथ में सावधानी जरूर बरतें. उन्होंने कहा अगर सावधानी नहीं बरती गई तो अबतक कोरोना के खिलाफ लड़ी गई जंग विफल हो जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज