केंद्रीय गृह सचिव ने राज्यों को लिखा खत, त्योहारों में कोरोना के लिए कदम उठाने के निर्देश

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला (Union Home Secretary Ajay Bhalla) ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखा है कि त्योहार के मौसम में विशेष मुस्तैदी की आवश्यकता है, इस वजह से कोरोना से बचाव संबंधी नियमों का पालन करवाना चाहिए.

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला (Union Home Secretary Ajay Bhalla) ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखा है कि त्योहार के मौसम में विशेष मुस्तैदी की आवश्यकता है, इस वजह से कोरोना से बचाव संबंधी नियमों का पालन करवाना चाहिए.

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला (Union Home Secretary Ajay Bhalla) ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखा है कि त्योहार के मौसम में विशेष मुस्तैदी की आवश्यकता है, इस वजह से कोरोना से बचाव संबंधी नियमों का पालन करवाना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 7:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के मद्देनजर केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला (Union Home Secretary Ajay Bhalla) ने राज्यों को खत लिखकर कदम उठाने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने लिखा है कि त्योहार के मौसम में विशेष मुस्तैदी की आवश्यकता है, इस वजह से कोरोना के बचाव संबंधी नियमों का पालन करवाना चाहिए.

देश में कोरोना के मामलों में एकाएक हुई वृद्धि के बाद कई राज्यों में एहितयातन कदम उठाए जा रहे हैं. सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है. राज्य के कई जिलों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू जैसे कदम उठाए गए हैं. इसके अलावा पंजाब, मध्य प्रदेश, गुजरात जैसे राज्यों में कोरोना मामलों की रफ्तार रोकने के लिए सख्त कदम उठाए गए हैं. पंजाब के कई जिलों में नाइट कर्फ्यू लगा हुआ है.

महाराष्ट्र में लॉकडाउन के संकेत

इससे पहले महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने बड़ा बयान दिया है. महाराष्‍ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राज्‍य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा है कि अगर राज्‍य में जैसी स्थिति चल रही है, वैसे ही हालात रहे तो पूरे महाराष्‍ट्र में लॉकडाउन लगाया जा सकता है. हालांकि उन्‍होंने ये भी साफ किया कि हम राज्‍य में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को मॉनिटर कर रहे हैं, 2 अप्रैल तक नज़र रखी जाएगी.
अजित पवार ने कहा कि महाराष्‍ट्र में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, इसके बावजूद लोग कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं कर रहे हैं. अगर हालात ऐसे ही रहे तो सरकार के पास लॉकडाउन के अलावा कोई चारा नहीं बचेगा. इस मौके पर पवार ने कोरोना की नई गाइलाइंस का भी ऐलान किया. उन्‍होंने बताया कि कोरोना की नई गाइडलाइन के मुताबिक मॉल, मार्केट, सिनेमा हॉल को अभी 50 फीसदी क्षमता के साथ ही काम करना होगा. इसके साथ ही शादी समारोह में एक बार फिर केवल 50 लोगों को ही आने की इजाजत दी जाएगी.

वैक्सीनेशन नियमों में हुआ बदलाव

इस बीच केंद्र सरकार ने वैक्सीनेशन नियमों में भी बदलाव कर दिया है. अब एक अप्रैल से 45 वर्ष से ऊपर के सभी लोग वैक्सीनेशन करवा सकेंगे. अब तक 45 से ज्यादा उम्र के वही लोग वैक्सीनेशन करवा सकते थे जिन्हें पहले से कोई बीमारी हो. इन बीमारियों की लिस्ट भी सरकार ने जारी की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज