विदेश से लौट रहे लोगों से 14 दिन होटल क्वारंटाइन के पैसे लेने पर एक्शन में MHA, कहा- वापस करें पैसे

विदेश से लौट रहे लोगों से 14 दिन होटल क्वारंटाइन के पैसे लेने पर एक्शन में MHA, कहा- वापस करें पैसे
वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों में रह रहे भारतीयों की वापसी हो रही है.

क्वारंटाइन (Quarantine) के लिए विदेशों से लौटे लोगों से 14 दिन के पैसे लेने के मामले पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को खत लिखा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. विदेशों से स्वदेश लौटने वाले भारतीयों को होटलों में 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किया जा रहा है. क्वारंटाइन (Quarantine) के लिए विदेशों से लौटे लोगों से 14 दिन के पैसे लेने के मामले पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को खत लिखा है.

केंद्रीय गृह सचिव (Union home secretary) ने सभी राज्य के मुख्य सचिवों से कहा कि, 'उन्हें पता चला है कि इन लोगों से भारत के लिए रवाना होने से पहले ही होटल (Hotel) के 14 दिनों की राशि क्वारंटाइन के नाम पर ले ली गई थी. लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Ministry of Health) द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार इन सभी को सिर्फ 7 दिनों तक ही संस्थागत क्वारंटाइन रहना है, इसलिए उनकी शेष राशि वापस की जाएगी. पत्र में यह भी लिखा है कि होटलों द्वारा 7 दिन की राशि को वापस करने में किसी तरह की देरी नहीं होनी चाहिए.'


जारी करें आवश्यक दिशा-निर्देश
पत्र में आगे कहा गया, 'आपसे अनुरोध है कि संस्थागत क्वारंटाइन के लिए इस्तेमाल किए गए होटलों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए जाएं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि 14 दिनों के अग्रिम भुगतान किए गए लोगों की शेष राशि बिना किसी देरी के वापस की जाए'स बता दें कि कुछ होटल विदेश से लौटने वाले यात्रियों के पैसे वापस नहीं कर रहे हैं, जिसकी शिकायतें केंद्र सरकार को मिलीं हैं.



24 मई को केंद्र सरकार ने जारी की एसओपी
24 मई को जारी केंद्र सरकार की एसओपी के मुताबिक सभी यात्रियों को यह वचन देना होगा कि वे 14 दिन के लिए क्वारंटाइन में रहेंगे. इसमें 7 दिन के संस्थागत पृथक-वास के लिए उन्हें भुगतान करना होगा और इसके बाद 7 दिन वह होम क्वारंटाइन में रहेंगे. इसमें कहा गया था कि बेहद अपवाद स्वरूप और बाध्यकारी वजहों से ही घर पर 14 दिनों के क्वारंटाइन इजाजत दी जा सकती है और ऐसे मामलों में आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल करना अनिवार्य होगा.

वंदे भारत मिशन के तहत वापसी
बता दें कि केंद्र सरकार कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद 'वंदे भारत मिशन' के नाम से एक अभियान चला रही है. इस अभियान के तहत दुनियाभर के 40 से ज्यादा देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा रहा है.

 

ये भी पढ़ेंः- 

चीनी 'बैट वुमन' की चेतावनी, 'कोरोना वायरस महज एक शुरुआत, फिर फैल सकते हैं ऐसे वायरस'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज