अपना शहर चुनें

States

मौलानाओं के निशाने पर आईं सांसद नुसरत जहां के समर्थन में उतरीं केंद्रीय मंत्री

दुर्गा पूजा में शामिल होने के बाद सांसद नुसरत जहां मौलानाओं के निशाने पर आ गईं
दुर्गा पूजा में शामिल होने के बाद सांसद नुसरत जहां मौलानाओं के निशाने पर आ गईं

दुर्गा पूजा (Durga Puja) में शामिल होने के बाद तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) की सांसद नुसरत जहां (Nusrat Jahan) के खिलाफ दारुल उलूम देवबंद (Darul Uloom Deoband) ने फतवा जारी कर दिया था.

  • Share this:
कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) की सांसद नुसरत जहां (Nusrat Jahan) दुर्गा पूजा उत्सव (Durga Puja Festival) में शामिल होने को लेकर मौलानाओं के गुस्से का सामना कर रही हैं. लेकिन, उन्हें केंद्रीय मंत्री देबाश्री चौधरी (Debashree Chowdhury) का समर्थन मिला है. मंत्री ने कहा कि निजी पसंद का सम्मान किया जाना चाहिए और भारतीय महिलाएं आमतौर पर अपने पति के धर्म से जानी जाती है.

दारूल उलूम देवबंद (Darul Uloom Deoband) से जुड़े मुफ्ती असद कासमी ने कहा था कि सांसद को अपना नाम और धर्म बदल लेना चाहिए क्योंकि वह अपने कार्यों से ‘इस्लाम और मुस्लिमों को बदनाम’ कर रही हैं.

इसी साल हुई है नुसरत जहां की शादी
बशीरहाट (Bashirhaat) से पहली बार सांसद निर्वाचित हुई जहां शादी के बाद से हिंदू प्रतीकों जैसे ‘मंगलसूत्र और ‘सिंदूर’ का इस्तेमाल करती हैं. उन्होंने इस साल उद्यमी निखिल जैन (Nikhil Jain) से शादी की है.




चौधरी ने कहा, ‘सभी को निजी पसंद का सम्मान करना चाहिए. यह उनकी पसंद है और अपनी पसंद से किसी भी त्योहार में उन्हें हिस्सा लेने की स्वतंत्रता है. भारत में एक शादीशुदा महिला आमतौर पर अपने पति के धर्म का पालन करती है और हम सभी जानते हैं कि नुसरत की शादी निखिल जैन से हुई है.’

मंत्री ने कहा अजान पर चुप क्यों?
कासमी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ने कहा कि ये मौलाना कोलकाता में दुर्गा पूजा पंडाल में अजान बजाने पर क्यों चुप हैं? मंत्री ने पूछा कि क्या यह धार्मिक भावनाओं को आहत करने जैसा नहीं था.

चौधरी पश्चिम बंगाल के उत्तरी कोलकाता (North Kolkata) के बेलाघाट (Belaghat) में एक दुर्गा पूजा समिति द्वारा थीम संगीत के तौर पर संस्कृत भजन के साथ अज़ान बजाने का हवाला दे रही थीं.



रविवार को साड़ी में नजर आईं नुसरत जहां ने सुरूची संघा में अपने पति के साथ दुर्गा पूजा उत्सव में हिस्सा लिया. एक पुजारी द्वारा मंत्रोच्चार के दौरान जहां द्वारा भी उसका जाप करते हुए टीवी चैनलों पर दिखाया गया. इस दौरान वह पूजा वाली मुद्रा में थीं. उन्होंने यहां ढोल भी बजाया और नृत्य किया. बाद में जहां ने संवाददाताओं को बताया कि उन्होंने सभी की शांति और समृद्धि के लिए पूजा-अर्चना की.

ये भी पढ़ें-
नुसरत जहां के दुर्गा पूजा में शामिल होने पर मौलाना बोले- अपना धर्म बदल लें

विजयादशमी के लिए मुस्लिम परिवार बनाता है रावण का पुतला
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज