vidhan sabha election 2017

गंगा की सफाई के लिए सरकार ने मांगा उद्योपतियों का साथ

Abhishek Pandey | News18Hindi
Updated: December 7, 2017, 11:09 PM IST
गंगा की सफाई के लिए सरकार ने मांगा उद्योपतियों का साथ
मुंबई में उद्योगपतियों के बीच बैठक कर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने गंगा सफाई अभियान पर लोगों को जुड़ने के लिए कहा. Image Source: PIB
Abhishek Pandey | News18Hindi
Updated: December 7, 2017, 11:09 PM IST
गंगा सफाई अभियान को लेकर अब सरकार लोगों के बीच जाकर मदद मांग रही है. मुंबई में उद्योगपतियों के बीच बैठक कर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने गंगा सफाई अभियान पर लोगों को जुड़ने के लिए कहा और उन्होंने इसके लिए अलग-अलग सुझाव भी उद्योगपतियों को दिए.

सरकार की कोशिश है कि सरकारी फंड की बजाय सीएसआर यानि कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी के सहारे गंगा की साफ-सफाई से लेकर पक्के घाट और गंगा का ब्युटीफिकेशन किया जाए. इसके अलावा लोग अपनी कंपनियों के जरिए गंगा किनारे बसे गांवों को गोद भी लें जिससे उन गांवों में बेसिक सुविधाएं मुहैया हो सके और लोग गंगा को प्रदूषित ना करें.

सरकार की कोशिश है कि देश भर में 111 जगहों पर जल मार्ग बनाए जाए और लोग ट्रेन या फ्लाइट के बजाय उन जल मार्गों के जरिए ही देश में एक जगह से दूसरे जगह ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करें. इन जल मार्गों के जरिए वो सामान भी एक जगह से दूसरी जगह ले जाएं. इसके लिए सरकार ने गंगा में वाराणसी से हल्दिया के बीच काम शुरू कर दिया है जिसके लिए सरकार 1700 करोड़ रुपए खर्च कर रही है.

सरकार ने कहा है कि अगर कोई भी व्यक्ति अपने पैसे गंगा के ब्युटिफिकेशन के लिए इस्तेमाल करता है तो इसके बदले वो अपने परिवार या किसी भी व्यक्ति का नाम लिख सकता है.

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद भी गंगा में 3600 एमएलडी प्रदूषण हो रहा है और सबसे ज्यादा 10 बड़े शहर प्रदूषण करते हैं जिसमें कानपुर, इलाहाबाद और बनारस शामिल हैं. प्रदूषण पर नियंत्रण करने के लिए सरकार 97 प्रोजेक्ट के जरिए प्रदूषण कम करने की कोशिश कर रही है. इसके अलावा सरकार ने 10 करोड़ पेड़ गंगा किनारे लगाने का भी प्रस्ताव रखा है और इसके लिए वो महाराष्ट्र के वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार की मदद ले रही है.

ये भी पढ़ें-
गंगा की स्वच्छता में तकनीकी, आर्थिक सहयोग जर्मनी, सीएस से हुई चर्चा
अब गंगा सफाई का ज़िम्मा संभालेंगे ब्रिटेन में बसे भारतीय कारोबारी


 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर