होम /न्यूज /राष्ट्र /राजस्थान और पंजाब में बढ़ी पराली जलाने की घटना, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने बोला हमला

राजस्थान और पंजाब में बढ़ी पराली जलाने की घटना, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने बोला हमला

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने राजस्थान और पंजाब में पराली जलने की घटना बढ़ने पर टिप्पणी की. (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने राजस्थान और पंजाब में पराली जलने की घटना बढ़ने पर टिप्पणी की. (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने रविवार को कहा कि अक्टूबर 2021 की तुलना में इस साल अक्टूबर में राजस्थान में पराली जलाने ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि राजस्थान में पराली जलाने की घटनाओं में 160 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई.
केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि पंजाब में पराली जलाने की घटनाओं में 20 फीसदी वृद्धि हुई है.
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दोनों राज्य की सरकारें इस घटना को रोकने के लिए ठोस कदम नहीं उठा रही हैं.

नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने रविवार को कहा कि अक्टूबर 2021 की तुलना में इस साल अक्टूबर में राजस्थान में पराली जलाने की घटनाओं में 160 प्रतिशत और पंजाब में 20 फीसदी वृद्धि हुई है. सिंह ने कहा कि पंजाब में अक्टूबर 2021 में पराली जलाने की 13,269 घटनाएं सामने आई थीं और अक्टूबर 2022 में ये 16,004 रहीं, जबकि राजस्थान में इनकी संख्या 124 से बढ़कर 318 हो गई. उन्होंने एक बयान में कहा कि इसका मतलब है कि दोनों राज्यों की सरकारें पराली जलाने पर रोक लगाने के लिए पर्याप्त प्रयास नहीं कर रही हैं और दिल्ली-एनसीआर में हवा की गुणवत्ता में गिरावट हो रही है.

पृथ्वी विज्ञान राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने सिंह ने कहा कि दूसरी ओर, हरियाणा और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में पराली जलाने की घटनाओं में गिरावट दर्ज की गई है. सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अक्टूबर 2021 में पराली जलाने की 1,060 जबकि इस साल अक्टूबर में 768 घटनाएं सामने आईं. वहीं हरियाणा में पराली जलाने के घटनाएं 2,914 से घटकर 1,995 रह गई. बता दें कि कुछ दिन पूर्व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सीमावर्ती राज्य में पराली जलाने की जिम्मेदारी ली और राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण के खतरनाक स्तर पर पहुंचने के बीच अगली सर्दियों तक इस चलन पर रोक लगाने का वादा किया.

केजरीवाल ने कहा था कि सर्दियों में वायु प्रदूषण ‘‘दिल्ली केंद्रित समस्या’’ नहीं है बल्कि इसने पूरे उत्तर भारत को प्रभावित किया है और इस मुद्दे पर कोई दोषारोपण तथा राजनीति नहीं होनी चाहिए. उन्होंने केंद्र से पराली जलाने पर रोक के लिए कदम उठाने का भी आग्रह किया. साथ ही, उन्होंने कहा कि अकेले किसानों को जिम्मेदार ठहराना गलत है. केजरीवाल ने मान के साथ संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘पंजाब में हमारी (आम आदमी पार्टी) सरकार है और अगर वहां पराली जलाई जा रही है तो हम जिम्मेदार हैं. हम पंजाब में पराली जलाने की जिम्मेदारी स्वीकार करते हैं.’

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें