कार्यक्रम से नदारद डॉक्टरों पर भड़के मंत्री, कहा- नक्सली बन जाएं, ताकि हम आपको गोली मार दें

महाराष्ट्र के एक सरकारी अस्पताल में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में वरिष्ठ चिकित्सकों के अनुपस्थित रहने पर वहां मौजूद केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि अगर उन्हें लोकतंत्र में भरोसा नहीं है तो ऐसे लोगों को नक्सल समूह में शामिल हो जाना चाहिए और तब सरकार उन्हें गोली मार देगी.


Updated: December 26, 2017, 12:23 PM IST
कार्यक्रम से नदारद डॉक्टरों पर भड़के मंत्री, कहा- नक्सली बन जाएं, ताकि हम आपको गोली मार दें
महाराष्ट्र के एक सरकारी अस्पताल में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में वरिष्ठ चिकित्सकों के अनुपस्थित रहने पर वहां मौजूद केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि अगर उन्हें लोकतंत्र में भरोसा नहीं है तो ऐसे लोगों को नक्सल समूह में शामिल हो जाना चाहिए और तब सरकार उन्हें गोली मार देगी.

Updated: December 26, 2017, 12:23 PM IST
महाराष्ट्र में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने डॉक्टरों को लेकर एक विवादस्पद बयान दिया है. मंत्री महोदय ने डॉक्टरों को नक्सलवादी बन जाने की सलाह दे डाली. मंत्री जी यहीं नहीं रुके और करीब धमकाने वाले लहजे में डॉक्टरों को गोली से मार देने की बात भी कह डाली.

दरअसल, महाराष्ट्र के एक सरकारी अस्पताल में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में वरिष्ठ चिकित्सकों के अनुपस्थित रहने पर वहां मौजूद केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि अगर उन्हें लोकतंत्र में भरोसा नहीं है तो ऐसे लोगों को नक्सल समूह में शामिल हो जाना चाहिए और तब सरकार उन्हें गोली मार देगी.

पूर्वी महाराष्ट्र के चंद्रपुर लोकसभा क्षेत्र के एक सरकारी अस्पताल में 24 घंटे चलने वाली जेनेरिक दवाईयों की दूकान का उद्घाटन करने के दौरान केंद्रीय गृह राज्यमंत्री बोल रहे थे. अहीर लोकसभा में चंद्रपुर का प्रतिनिधित्व करते हैं.

कार्यक्रम में वरिष्ठ चिकित्सकों के अनुपस्थित रहने पर नाराज अहीर ने कहा, ‘‘कार्यक्रम में महापौर एवं उप महापौर आये हैं लेकिन चिकित्सकों को यहां आने से कौन सी चीज रोक रही है.’’

हंसराज ने कहा, ‘‘नक्सली क्या चाहते हैं. वह लोकतंत्र नहीं चाहते हैं.....ये लोग ( अनपुस्थित चिकित्सक ) भी लोकतंत्र नहीं चाहते हैं, तब उन्हें नक्सल समूह में शामिल हो जाना चाहिए. आप यहां क्यों हैं. तब ( अगर आप नक्सली समूह में शामिल होते हैं) हम आपको गोली मार देंगे, आप यहां क्यों गोलियां बांट कर रहे हैं.’’

मंत्री ने इस बात आश्चर्य जताया कि जब लोकतांत्रिक तरीके से चुना हुआ एक मंत्री दौरे पर है तो डाक्टरों के लिए छुट्टी पर जाना उचित है.

चंद्रपुर महाराष्ट्र के उन चार जिलों में से एक है, जिसकी पहचान केंद्र सरकार ने नक्सल प्रभावित जिले के तौर पर की है. (भाषा इनपुट के साथ)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर