केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में भर्ती, फेफड़े और किडनी में परेशानी

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में भर्ती, फेफड़े और किडनी में परेशानी
केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (फाइल फोटो)

Ram Vilas Paswan admitted: रामविलास पासवान को रविवार को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. डॉक्टरों ने कहा है कि उनकी हालत फिलहाल स्थिर है

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2020, 1:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) को दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने फेफड़ों और किडनी में परेशानी की शिकायत की है. उन्हें रविवार को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. डॉक्टरों ने कहा है कि उनकी हालत फिलहाल स्थिर है. बता दें कि उन्हें पहले से ही हार्ट की बीमारी है. साल 2017 में वो हार्ट का इलाज कराने के लिए लदंन गए थे.

फिलहाल हालत स्थिर
डॉक्टरों का कहना है कि रामविलास पासवान को कई तरह की परेशानी है. उनका हार्ट ठीक तरीके से काम नहीं कर रहा है. लेकिन राहत की बात ये है कि फिलहाल उनकी हालत स्थिर है.

राजनीतिक का लंबा अनुभव
रामविलास पासवान उपभोक्ता मामलों और खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मामलों के केंद्रीय मंत्री हैं. इसके अलावा वो बिहार की लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष भी हैं. रामविलास पासवान 32 सालों में 11 चुनाव लड़ चुक हैं.  इनमें से उन्हें 9 बार जीत मिली है. इसके अलावा रामविलास पासवान छह प्रधानमंत्रियों के साथ काम कर चुके हैं जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है.



50 साल का राजनीतिक करियर
रामविलास पासवान पिछले 50 सालों से राजनीति कर रहे हैं और वो आज भारतीय राजनीति में किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं. 1969 में पहली बार पासवान बिहार के विधानसभा चुनावों में संयुक्‍त सोशलिस्‍ट पार्टी के उम्‍मीदवार के रूप निर्वाचित हुए. 1977 में छठी लोकसभा में पासवान निर्वाचित हुए वहीं साल 1982 में हुए लोकसभा चुनाव में वो दूसरी बार विजयी रहे. 1989 में नवीं लोकसभा में तीसरी बार लोकसभा में चुने गए. 1996 में दसवीं लोकसभा में वे निर्वाचित हुए. 2000 में पासवान ने जनता दल यूनाइटेड से अलग होकर लोकजनशक्‍ति पार्टी का गठन किया. बारहवीं, तेरहवीं और चौदहवीं लोकसभा में भी पासवान विजयी रहे और इस दौरान वो केंद्र की सरकारों में मंत्री बने.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज