Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान ने कहा, सिर्फ पटाखे बैन करने से कुछ नहीं होगा

    देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता (AQI) धीरे-धीरे बेहद खराब होती जा रही है.
    देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता (AQI) धीरे-धीरे बेहद खराब होती जा रही है.

    केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान (Sanjeev Balyan) ने कहा, 'पराली की वजह से दिल्ली (Delhi) में केवल 4 प्रतिशत प्रदूषण (Pollution) होता है लेकिन दिल्ली सरकार सारी जिम्मेदारी किसानों पर डाल देती है.'

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 9, 2020, 1:39 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में प्रदूषण (pollution) का स्तर गंभीर हो गया है. दिल्ली पूरी तरह से गैस चैंबर में तब्दील हो गई है और यहां रहने वालों को अब सांस लेने में भी दिक्कत होने लगी है. दिल्ली में प्रदूषण से​ बिगड़ते हालात को देखते हुए केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान (Sanjeev Balyan) ने दिल्ली सरकार पर बड़ा हमला बोला है. संजीव बाल्यान ने दिल्ली सरकार को नसीहत देते हुए कहा है कि सिर्फ पटाखे बैन करने से दिल्ली के प्रदूषण को कम नहीं किया जा सकता है.

    केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'पराली की वजह से दिल्ली में केवल 4 प्रतिशत प्रदूषण होता है लेकिन दिल्ली सरकार सारी जिम्मेदारी किसानों पर डाल देती है. प्रदूषण खत्म करने को लेकर पूरे साल दिल्ली सरकार कोई काम नहीं करती और सोती रहती है. सर्दी आते ही दिल्ली सरकार को इस बारे में सोचने का होश आता है. बड़ी इंडस्ट्री और गाड़ी वालों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है.'

    उन्होंने कहा कि प्रदूषण के नाम पर किसानों का उत्पीड़न बंद होना चाहिए. संजीव बाल्यान ने कहा, 'सिर्फ पटाखों पर बैन लगाने से कुछ नहीं होगा, सही योजना बनाकर काम करना होगा.' उपचुनाव पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैं ज्योतिषी तो नहीं हूं लेकिन बीजेपी चुनाव जीतेगी.
    इसे भी पढ़ें :- NGT का बड़ा फैसला: दिल्‍ली-एनसीआर में इस दिवाली नहीं छोड़ सकेंगे पटाखा, 30 नवंबर तक आतिशबाजी पर रोक



    जहरीली हो रही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की हवा
    राष्ट्रीय राजधानी के आईटीओ में हवा बिल्कुल जहरीली हो गई है. आज सुबह यहां पर वायु गुणवत्ता सूचकांक 472 रिकॉर्ड किया गया है, जो कि गंभीर श्रेणी में आता है. वहीं, प्रदूषण की वजह से धुंध भी छाई हुई है. बता दें कि 0 और 50 के बीच एक्यूआई को अच्छा, 51 और 100 के बीच संतोषजनक, 101 और 200 के बीच मध्यम, 201 और 300 के बीच खराब, 301 और 400 के बीच बेहद खराब और 401 से 500 के बीच बेहद गंभीर माना जाता है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज