Home /News /nation /

चीन की तरह भारत में नहीं है कोयला संकट, मांग पूरी करने के लिए काफी स्टॉक: केंद्रीय मंत्री

चीन की तरह भारत में नहीं है कोयला संकट, मांग पूरी करने के लिए काफी स्टॉक: केंद्रीय मंत्री

केंद्र सरकार का कहना है कि हमारे पास कोयले का पर्याप्‍त भंडार मौजूद है.

केंद्र सरकार का कहना है कि हमारे पास कोयले का पर्याप्‍त भंडार मौजूद है.

India Coal Crisis: केंद्रीय मंत्री आर.के. सिंह ने कहा, "हमारे पास कोयले का जो स्टॉक है वो 4 दिनों तक चल सकता है. चीन की तरह भारत में कोयला संकट नहीं है."

    नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री आर.के. सिंह ने चीन में कोयले की कमी और भारत में कोयले की बढ़ती मांग की मीडिया रिपोर्ट पर मंगलवार को कहा कि देश में कोयले का पर्याप्त भंडार है, जिससे सभी मांगों की पूर्ति की जा सकती है. उन्होंने कहा, “कोयले की मांग बढ़ी है और हम इस मांग को पूरा कर रहे हैं. हम मांगों में और वृद्धि को पूरा करने की स्थिति में हैं. फिलहाल, हमारे पास कोयले का जो स्टॉक है वो 4 दिनों तक चल सकता है. चीन की तरह भारत में कोयला संकट नहीं है.”

    केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि बिजली की मांग में बढ़ोतरी की वजह से कोयले की मांग में इजाफा हुआ है, जो कि देश के लिए अच्छा है. उन्होंने कहा, “बिजली की मांग में वृद्धि एक अच्छा संकेत है, जो दर्शाता है कि हम सुधार की राह पर हैं. सौभाग्य योजना के तहत 2.82 करोड़ घरों में बिजली कनेक्शन भी बिजली की मांग बढ़ने का एक कारण है.”

    पूर्वी लद्दाख के पास चीनी विमानों की तैनाती चिंता की बात, लेकिन हम हर खतरे से निपटने को तैयार- एयरफोर्स चीफ

    उन्होंने कोयले की मांग को देश की अर्थव्यवस्था से जोड़ते हुए कहा, “कोयले की मांग बढ़ना अच्छी बात है, इससे पता चलता है कि हमारी अर्थव्यवस्था आगे बढ़ रही है. जितनी भी मांग होगी, उसकी हम पूर्ति करेंगे. हम इस स्थिति में हैं.”

    10 साल की मासूम से रेप, कोर्ट ने महज 9 दिन में सुनाया फैसला, रेपिस्ट को 20 साल जेल की सजा

    बीते वित्त वर्ष में देश का कोयला उत्पादन 2.02 प्रतिशत की गिरावट के साथ 71.60 करोड़ टन रह गया. कोयला मंत्रालय के अस्थायी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है. इससे पिछले वित्त वर्ष 2020-21 में कोयला उत्पादन 73.08 करोड़ टन रहा था.

    कुल कोयला उत्पादन में नॉन कोकिंग कोयला का हिस्सा 67.12 करोड़ टन और कोकिंग कोयला का 4.47 करोड़ टन रहा था. इसमें से सार्वजनिक क्षेत्र का उत्पादन 68.59 करोड़ टन और निजी क्षेत्र का 3.01 करोड़ टन रहा था.

    Tags: China, Coal mines, India

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर