लाइव टीवी

देश में आया 1.18 लाख कोरोना केस का तूफान, फिर भी ऐसे बचा रहा यह केंद्र शासित प्रदेश

News18Hindi
Updated: May 23, 2020, 5:44 AM IST
देश में आया 1.18 लाख कोरोना केस का तूफान, फिर भी ऐसे बचा रहा यह केंद्र शासित प्रदेश
लक्षद्वीप में एक भी कोविड 19 केस अब तक नहीं आया. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामले शुक्रवार को बढ़कर 1,18,447 हो गए हैं. साथ ही 3583 लोगों की जान कोविड 19 (Covid 19) से जा चुकी है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामले शुक्रवार को बढ़कर 1,18,447 हो गए हैं. साथ ही 3583 लोगों की जान कोविड 19 (Covid 19) से जा चुकी है. देश के कई राज्‍य मसलन महाराष्‍ट्र, गुजरात और दिल्‍ली में कोरोना वायरस से हालात बेहद चिंताजनक हैं. इस सबके बीच एक केंद्र शासित राज्‍य ऐसा है, जहां अब तक एक भी कोरोना वायरस संक्रमण का मामला सामने नहीं आया है. यह राज्‍य है लक्षद्वीप (lakshwadeep). इसके अलावा सिक्किम और नगालैंड भी कोरोना वायरस मुक्‍त राज्‍य हैं.

इंडियन एक्‍सप्रेस में प्रकाशित खबर के मुताबिक लक्षद्वीप के स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों ने राज्‍य में एक भी कोरोना वायरस पॉजिटिव केस न आने के पीछे समय रहते तैयारी करने, सभी निवासियों की अनिवार्य कोविड 19 जांच और सख्‍त क्‍वारंटाइन नियमों की सफल प्‍लानिंग को श्रेय दिया है.

लक्षद्वीप की जनसंख्‍या करीब 64 हजार है. वह अपनी जरूरतों के लिए केरल पर निर्भर रहता है. राज्‍य ने मार्च से अब तक अपने यहां लोगों की आवाजाही पर सख्‍त निगरानी की. केरल से अब तक लक्षद्वीप में सिर्फ जरूरी सामान की सप्‍लाई ही हुई है.



लक्षद्वीप के स्‍वास्‍थ्‍य सचिव डॉक्‍टर एस सुंदरावैदिवेलू के बताया, 'हमने बहुत पहले ही राज्‍य में बाहरी लोगों की आवाजही रोक दी थी. विदेश से पर्यटक और घरेलू पर्यटक भी इसमें शामिल थे. हमने सभी यात्रियों की आवाजाही रोक दी थी. जब लॉकडाउन लगा तो जो निवासी लक्षद्वीप लौटना चाह रहे थे उन सबका हमने कोविड 19 टेस्‍ट कराया. कोच्चि और मंगलोर में उन सभी की RT-PCR जांच की गई. हम तभी उन्‍हें वापस लाए जब वे जांच में नेगेटिव पाए गए. जो यहां आए वे सभी कोविड 19 नेगेटिव निकले.'



स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों ने लक्षद्वीप के दूरदराज के इलाकों में रहने वाले सभी लोगों में कोविड 19 के प्रति जागरूकता फैलाई. इसके साथ ही स्‍वास्‍थ्य सेवाएं उन तक पहुंचाईं.

स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने बताया, 'हमने लोगों तक जागरूकता फैलाने के लिए आशा वर्कर्स को घर-घर भेजा. लोगों को कोविड 19 के प्रति शिक्षित किया गया. अगर किसी में बुखार और अन्‍य कोविड 19 के लक्षण दिखे तो उनको हेल्‍पलाइन में कॉल करने को कहा गया. हमने कुछ कोविड 19 संदिग्‍धों के सैंपल लिए और उन्‍हें केरल भेजा. लेकिन जांच में वह सभी नेगेटिव आए.'

News18 Polls: लॉकडाउन खुलने पर ये काम कबसे और कैसे करेंगे आप?


लक्षद्वीप के जिन लोगों की कोविड 19 जांच नेगेटिव आई थी, उनको और उनके परिवार को भी 14 दिन के लिए अनिवार्य रूप से क्‍वारंटाइन में रखा गया.

 

य‍ह भी पढ़ें: सोनिया गांधी ने आर्थिक पैकेज के नाम पर सरकार पर साधा निशाना, बंटा दिखा विपक्ष

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 5:44 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading