कोरोना वायरस की चपेट में आए ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन, प्रिंस चार्ल्‍स भी हैं संक्रमित

ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन बनने की कोई गारंटी नहीं है
ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन बनने की कोई गारंटी नहीं है

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने ट्विटर पर वीडियो पोस्‍ट कर अपने कोरोना वायरस संक्रमित (coronavirus) होने की जानकारी दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2020, 6:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दुनिया भर में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) से ब्रिटेन (Britain) के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) भी नहीं बच पाए. बोरिस जॉनसन शुक्रवार को संक्रमित पाए गए हैं. ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने अपने कोरोना वायरस संक्रमित (Covid 19) होने की जानकारी ट्विटर पर वीडियो पोस्‍ट करके दी. इससे पहले ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्‍स (Prince charles) भी कोविड 19 संक्रमित पाए जा चुके हैं.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson Covid 19) ने ट्विटर पर वीडियो पोस्‍ट करके जानकारी दी कि उनमें कोरोना वायरस के हल्‍के लक्षण सामने आए हैं. इसमें बुखार और खांसी शामिल है. यह पिछले 24 घंटे से है. चीफ मेडिकल ऑफिसर के कहने पर उन्‍होंने अपना टेस्‍ट कराया, जो कि पॉजिटिव आया है.

Over the last 24 hours I have developed mild symptoms and tested positive for coronavirus.





बोरिस जॉनसन ने जानकारी दी है कि वह आइसोलेशन में जा रहे हैं. साथ ही वह वर्क फ्रॉम होम करेंगे. उन्‍होंने कहा कि वह अपने घर से ही सरकारी काम वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये करेंगे.

प्रिंस चार्ल्‍स भी पॉजिटिव
वहीं ब्रिटिश शाही निवास क्लेरेंस हाउस ने बुधवार को घोषणा की थी कि वेल्स के राजकुमार प्रिंस चार्ल्‍स के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. चार्ल्स अभी स्कॉटलैंड के एबरडीनशायर में पृथक हैं. इस बात पर भी सवाल उठाए गए हैं कि चार्ल्स को स्कॉटलैंड की यात्रा करने की अनुमति क्यों दी गई जब उनमें इसके हल्के लक्षण दिख रहे थे.

ब्रिटेन में अब तक 578 मौतें
ब्रिटेन ने कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन (बंदी) लागू किया है. ब्रिटेन में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या करीब 9,500 से अधिक पहुंच गई है जबकि 578 संक्रमितों की मौत हो चुकी है. लोगों का मानना है कि सामाजिक मेल मिलाप में दूरी के सख्त नियमों का अनुपालन कराते हुए बीमारी और निराशा से लड़ने का जज्बा बनाए रखना है.

यह भी पढ़ें: नोएडा में कोरोना के 3 और पॉजिटिव केस मिले, दो हाउसिंग सोसायटी सील
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज