उन्नाव रेप केस : लखनऊ में ही होगा पीड़िता का इलाज, तिहाड़ जेल में शिफ्ट होंगे चाचा

उन्नाव रेप केस में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को रायबरेली जेल में बंद पीड़िता के चाचा को दिल्ली के तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया है.

News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 12:21 PM IST
उन्नाव रेप केस : लखनऊ में ही होगा पीड़िता का इलाज, तिहाड़ जेल में शिफ्ट होंगे चाचा
उन्नाव रेप केस : लखनऊ में ही होगा पीड़िता का इलाज, तिहाड़ जेल में शिफ्ट होंगे चाचा
News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 12:21 PM IST
उन्नाव रेप केस में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने रायबरेली जेल में बंद पीड़िता के चाचा को दिल्ली के तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया है. इसी के साथ कोर्ट ने ये भी कहा है कि पीड़िता का इलाज लखनऊ में ही किया जाएगा और उसे दिल्ली शिफ्ट नहीं किया जाएगा.

कोर्ट में पीड़िता की तरफ से पेश हुए वकील बी राजशेखरन ने चाचा की सुरक्षा का हवाला देते हुए उन्हें तिहाड़ जेल शिफ्ट करने का आग्रह किया. इसके जवाब में यूपी सरकार की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि इसमें उन्हें कोई आपत्ति नहीं है. इसके बाद बेंच ने पीड़िता के चाचा को तिहाड़ जेल शिफ्ट करने का आदेश दिया.

इस दौरान कोर्ट ने पीड़िता के बेहतर इलाज के लिए दिल्ली एयरलिफ्ट करने की भी सुनवाई की. मामले में सीबीआई ने कोर्ट को बताया कि परिजनों का कहना है कि पीड़िता अभी बेहोश है. फिलहाल उसका इलाज लखनऊ में ही हो. परिजनों ने यह भी मांग की कि इमरजेंसी की हालत में उन्हें इसे सुप्रीम कोर्ट में मेंशन कराने की अनुमति मिलनी चाहिए. हालांकि यूपी सरकार की तरफ से बताया गया कि पीड़िता की हालत में सुधार हो रहा है.

पीड़िता के परिवार को मिली CRPF की सुरक्षा

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद गुरुवार देर रात उन्नाव रेप पीड़िता और उसके परिजनों को सीआरपीएफ सुरक्षा मिल गई. गुरुवार देर रात सीआरपीएफ की टीम लखनऊ के ट्रामा सेंटर पहुंची और पूरी व्यवस्था अपने हाथों में ले लिया. सुरक्षाकर्मी आने जाने वालों पर निगाह बनाए हुए हैं. बता दें कि रायबरेली सड़क हादसे में घायल हुई पीड़िता का इलाज लखनऊ के केजीएमयू ट्रामा सेंटर में चल रहा है. पीड़िता अभी भी वेंटीलेटर पर है और उसकी हालत नाजुक बनी हुई है.

पीड़िता के परिजनों को दिया 25 लाख का चेक
उधर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद गुरुवार रात डीएम कौशल राज शर्मा और एसएसपी कलानिधि नैथानी ने पीड़िता के परिजनों को 25 लाख का चेक सौंपा. सुप्रीम कोर्ट ने 24 घंटे के अंदर पीड़िता को आर्थिक मदद देने का निर्देश दिया था. इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने रेप और पीड़िता के एक्सीडेंट मामले से संबंधित सभी पांच केस को दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट ट्रांसफर कर नियमित सुनवाई का आदेश दिया है.
Loading...

आरोपी कुलदीप सेंगर से आज हो सकती है पूछताछ
उन्‍नाव रेप पीड़िता के एक्‍सीडेंट के मामले में सेंट्रल ब्‍यूरो ऑफ इन्‍वेस्टिगेशन (CBI) आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर से आज पूछताछ करेगी. सूत्रों के मुताबिक, सेंगर के साथ ही सीबीआई पीड़िता को उसकी सुरक्षा के लिए दिए गए गनमैन से भी सवाल-जवाब करेगी. बीजेपी से निष्‍कासित किया गया विधायक कुलदीप फिलहाल उन्‍नाव रेप मामले में जेल में बंद है. उन्नाव रेप पीड़िता के साथ रविवार को रायबरेली में हुए एक्सीडेंट मामले में सीबीआई ने 25 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. इसमें कुलदीप सेंगर समेत 10 लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है.
First published: August 2, 2019, 12:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...