UNSC ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की, कहा- ये कायराना हरकत है

UNSC के सदस्य देशों ने इस हमले में शहीद हुए जवानों के परिजनों के साथ ही भारत की जनता और सरकार के प्रति गहरी संवेदना और सहानुभूति जताई है

एएनआई
Updated: February 22, 2019, 8:24 AM IST
UNSC ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की, कहा- ये कायराना हरकत है
यूनाइटेड नेशंस हेडक्वार्टर
एएनआई
Updated: February 22, 2019, 8:24 AM IST
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने पुलवामा में किए किए गए हमले की कड़ी निंदा की है. UNSC ने इस हमले को जघन्य और कायराना कहा है. साथ ही इस हमले की साजिशकर्ताओं, आयोजकों और प्रायोजकों के खिलाफ कार्रवाई की अपील है. सुरक्षा परिषद ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का भी जिक्र किया. साथ ही कहा कि हमलों के लिए दोषी लोगों को न्याय के कठघरे में लाने की जरूरत है.

UNSC द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, 'सुरक्षा परिषद के सदस्य जम्मू एवं कश्मीर में हुए जघंन्य और कायरतापूर्ण आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निंदा करती है. इसमें भारतीय अर्धसैनिक बल के 40 जवान शहीद हो गए थे और जिसकी जिम्मेदारी जैश-ए-मुहम्मद ने ली है'

UNSC के सदस्य देशों ने इस हमले में शहीद हुए जवानों के परिजनों के साथ ही भारत की जनता और सरकार के प्रति गहरी संवेदना और सहानुभूति जताई है. सुरक्षा परिषद ने घायल हुए जवानों के जल्द ठीक होने की कामना की है. सुरक्षा परिषद के सदस्यों का मानना है कि किसी भी तरह का आतंकवाद अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए सबसे गंभीर खतरा है.



गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान पर अंतर्राष्ट्रीय दबाव बढ़ रहा है. दुनिया के लगभग सभी शक्तिशाली देशों ने पुलवामा हमेल को लेकर पाकिस्तान की आलोचना की है. गुरुवार को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक ली. इस बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए हैं. पाकिस्तानी वेबसाइट 'डॉन' के अनुसार पाकिस्तान ने आतंकी संगठन जमात-उत-दावा पर बैन लगाया है. इसके साथ ही फलाह-ए-इंसानियत पर भी बैन लगाया गया है.

ये भी पढ़ें:

UP में गठबंधन के सीटों का ऐलान, इन सीटों पर मिलकर चुनाव लड़ेंगे सपा-बसपा

भारत के लिए 'ब्रह्मास्त्र' से कम नहीं जल संधि, टूट जाएगी पाकिस्‍तान की कमर!
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...