UNSC अध्यक्ष पोलैंड ने कहा, बातचीत से कश्मीर का समाधान निकालें भारत-पाक

अगस्त, 2019 के लिए संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के अध्‍यक्ष पोलैंड की ओर से कहा गया है कि दोनों देश मतभेद दूर करने के लिए बातचीत के जरिये द्विपक्षीय हितों को ध्‍यान में रखते हुए समाधान निकाल सकते हैं.

News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 11:24 PM IST
UNSC अध्यक्ष पोलैंड ने कहा, बातचीत से कश्मीर का समाधान निकालें भारत-पाक
पोलैंड की ओर से कहा गया है कि दोनों देश मतभेद दूर करने के लिए बातचीत के जरिये द्विपक्षीय हितों को ध्‍यान में रखते हुए समाधान निकाल सकते हैं.
News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 11:24 PM IST
अगस्त, 2019 के लिए संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के अध्‍यक्ष पोलैंड ने कहा है कि नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार की ओर से जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) का विशेष दर्जा वापस लिए जाने के बाद भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच पैदा हुए मतभेदों को बातचीत के जरिये सुलझाने का प्रयास किया जाए. पोलैंड की ओर से कहा गया है कि दोनों देश मतभेद दूर करने के लिए बातचीत के जरिये द्विपक्षीय हितों को ध्‍यान में रखते हुए समाधान निकाल सकते हैं.

जापुतोविच ने एस. जयशंकर और एसएम कुरैशी से की बात
पोलैंड के विदेश मंत्री जे. जापुतोविच से सवाल किया गया था कि पाकिस्तान ने कश्मीर की स्थिति पर सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने की मांग की है. क्या परिषद के अध्यक्ष के तौर पर पोलैंड पाकिस्‍तान के आग्रह का समर्थन करता है. जापुतोविच ने कहा कि उन्होंने पिछले कुछ दिनों में भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के साथ फोन पर बातचीत की है.

विवाद को केवल शांतिपूर्ण तरीकों से किया जा सकता है हल

जापुतोविच ने कहा कि हमने जम्मू-कश्मीर की बदली स्थिति को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच मौजूदा तनाव पर चिंता व्यक्त की. पोलैंड का मानना है कि विवाद को केवल शांतिपूर्ण तरीकों से हल किया जा सकता है. हम मतभेदों को दूर करने के लिए पाकिस्तान और भारत के बीच बातचीत के पक्ष में हैं. उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों देश द्विपक्षीय रूप से एक-दूसरे के लिए फायदे वाला समाधान निकाल सकते हैं.

कश्‍मीर मामले पर चर्चा कर उचित फैसला लेगी सुरक्षा परिषद
पोलैंड के विदेश मंत्री ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच तनावपूर्ण संबंध पूरे दक्षिण एशिया क्षेत्र को बुरी तरह से प्रभावित करते हैं. इन दोनों देशों के बीच तनाव के गंभीर राजनीतिक, सुरक्षा और आर्थिक परिणाम हो सकते हैं. उन्‍होंने बताया कि सुरक्षा परिषद मामले पर चर्चा कर उचित फैसला लेगी. हालांकि, उन्‍होंने यह नहीं बताया कि UNSC मामले पर कब चर्चा करेगी. उन्‍होंने बताया कि उन्‍हें पाकिस्‍तान की ओर से इस मामले पर पत्र भेजे जाने की सूचना मिली है.

ये भी पढ़ें: 

Independence Day 2019: अगर नहीं पहुंच पा रहे हैं लालकिला तो यहां देखें PM Narendra Modi का भाषण

15 अगस्‍त से एक दिन पहले पाकिस्‍तानी सेना ने दी भारत को युद्ध की धमकी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 14, 2019, 10:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...