Home /News /nation /

UP Election 2022: कहीं भारी ना पड़ जाएं अखिलेश यादव को ये 5 'गलतियां'

UP Election 2022: कहीं भारी ना पड़ जाएं अखिलेश यादव को ये 5 'गलतियां'

बसपा से छिटकते नेताओं और बीजेपी के खिलाफ सत्ता बचाने की कवायद के बीच दलित वोटरों का पाला बदलना सियासी रण में निर्णायक हो सकता है. फाइल फोटो

बसपा से छिटकते नेताओं और बीजेपी के खिलाफ सत्ता बचाने की कवायद के बीच दलित वोटरों का पाला बदलना सियासी रण में निर्णायक हो सकता है. फाइल फोटो

UP Assembly Election 2022: अपर्णा यादव ने 21 जनवरी की सुबह मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद लेकर भी बड़ा संदेश दे दिया है कि नेताजी का आशीर्वाद उनके साथ है. भले ही अपर्णा यादव के पास व्यापक जनाधार ना हो, लेकिन अखिलेश पर बीजेपी को हमला करने का मौका तो मिल ही गया है. बीजेपी ने नाहिद हसन को दोबारा टिकट दिए जाने को समाजवादी पार्टी का ‘जिन्नावाद’ कहा और सपा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. बाद में अखिलेश को नाहिद हसन का टिकट उनकी बहन इकरा हसन को देना पड़ा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) में अब ज्यादा दिन का समय नहीं बचा है. 10 फरवरी को पहले चरण में पश्चिमी यूपी में वोट डाले जाएंगे, लेकिन पश्चिमी यूपी से जिस तरह की खबरें आ रही हैं वह अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की चिंताओं को बढ़ाने वाली हैं. दरअसल मेरठ की सिवालखास (Siwal Khas) सीट पर जिस तरह जाटों ने समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार का विरोध किया है, वह अखिलेश यादव और जयंत चौधरी के ‘भाईचारे’ पर सवाल खड़ा करता है. यही नहीं अपर्णा यादव (Aparna Yadav) ने बीच चुनाव जिस तरह बीजेपी ज्वॉइन की है, वह भी अखिलेश यादव की छवि को कमजोर करती है. भले ही वह शुभकामनाएं और बधाई देकर मामले को संभालने की कोशिश कर रहे हों, लेकिन बीजेपी लगातार यह दर्शाने की कोशिश कर रही है, कि अखिलेश अपना परिवार भी नहीं संभाल पा रहे हैं. आइए आपको बताते हैं समाजवादी पार्टी की उन कमियों के बारे में जो सियासी बिसात पर अखिलेश की किलेबंदी में सुराख की तरह दिख रही हैं.

सिवालखास में सपा उम्मीदवार का विरोध

Tags: Assembly Election 2022, UP Assembly Election 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर