चुनावी हलचल के बीच UP Board Result, छात्रों के लिए नेताओं के मंत्र

चुनावी हलचल के बीच UP Board Result, छात्रों के लिए नेताओं के मंत्र
प्रतीकात्मक तस्वीर.

यूपी बोर्ड के परीक्षा परिणाम जारी होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत नेता छात्रों को संदेश और मंत्र दे चुके हैं. चुनावी रैलियों और हलचलों के बीच छात्रों और उनके पैरेंट्स के लिए कुछ बातें जानना ज़रूरी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2019, 1:09 PM IST
  • Share this:
'जैसे एक चुनाव हार जाने से उम्मीद खत्म नहीं होती और दोबारा चुनाव लड़ने का मौका मिलता है, वैसे ही एक परीक्षा में नाकाम हो जाने से ज़िंदगी खत्म नहीं हो जाती, मौके खत्म नहीं होते.' एक तरफ देश में चुनावी हलचल और सियासी खबरें गर्म हैं और दूसरी तरफ शनिवार को यूपी बोर्ड परीक्षाओं के रिज़ल्ट का दिन है. ऐसे में 10वीं और 12वीं के छात्रों को परीक्षा परिणामों से विचलित न होने और हर तरह से हौसला बनाए रखने की हिदायतें सभी दे रहे हैं. प्रधानमंत्री मोदी समेत कई नेताओं के साथ ही खिलाड़ियों, उद्यमियों और सेलिब्रिटीज़ ने छात्रों और उनके पैरेंट्स को सकारात्मक बने रहने के लिए सुझाव दिए हैं.

UP Board Result 2019: रिजल्ट से पहले क्या है छात्रों को Experts की राय : यूपी बोर्ड के नतीजों के सिलसिले में आ रही खबरों में कहा जा रहा है कि इस बार बेहतर परीक्षा परिणाम की उम्मीद है. वहीं ये भी महत्वपूर्ण है कि परीक्षा परिणाम के दिन परीक्षा छात्रों से ज़्यादा उनके पैरेंट्स की होती है. कई एक्सपर्ट कह रहे हैं कि बच्चों को रिज़ल्ट के दिन मायूस न होने दें और हर स्थिति में उनका साथ देकर उनका मनोबल बढ़ाएं.

न्‍यूज 18 हिंदी पर रिजल्‍ट चेक करने के लिए यहां क्‍लिक करें. 


पढ़ें: छात्रों के लिए पीएम मोदी के मंत्र : वाराणसी लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल कर चुके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छात्रों को कामयाबी के मंत्र दे चुके हैं. 'एक्जाम वॉरियर्स' नाम की किताब में प्रधानमंत्री मोदी बच्चों को तनाव लिये बगैर परीक्षा का सामना करने की सीख देते हैं. इस किताब में 25 मंत्र हैं. किताब में मोदी एक जगह पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का ज़िक्र करते हुए लिखते हैं कि एक परीक्षा का परिणाम किसी व्यक्ति को जांचने का पैमाना नहीं होता. कलाम फाइटर पायलट बनना चाहते थे, लेकिन एक परीक्षा में असफल होने के बाद निराश नहीं हुए बल्कि महान वैज्ञानिक बने.



'एक्जाम वॉरियर्स' में मोदी लिखते हैं कि अंकों और अंकसूचियों का अर्थ सीमित होता है, अस्ल चीज़ है ज्ञान. उनका मानना है कि किसी व्यक्ति के जीवन को केवल एक परीक्षा परिणाम से परिभाषित नहीं किया जा सकता. मोदी लिखते हैं कि एक्जाम जीवन के कई महत्वपूर्ण अवसरों में से एक है, लेकिन बस वही जीवन नहीं है.



पढ़ें : मोहन बाबू का छात्रों को भावुक संदेश
तेलंगाना में परीक्षा परिणामों के बाद नाकाम हुए छात्रों के खुदकुशी करने की खबरों के बीच अभिनेता से राजनीतिक बने मोहन बाबू ने एक भावुक संदेश जारी करते हुए कहा था कि 'अपनी जान लेकर अपने माँ-बाप को सज़ा नहीं दें. माँ-बाप हमेशा चाहते हैं कि उनके बच्चे पढ़-लिखकर कामयाब बनें और जीवन में शीर्ष पर पहुंचें. ईश्वर ने हमें जीवन दिया है और हम इस जीवन का अंत खुद नहीं कर सकते. सिर्फ़ इसलिए कि हम कुछ ज़रूरी अंक परीक्षा में नहीं ला पाए.'

यहां सबसे पहले देखें यूपी बोर्ड का रिज़ल्ट
इधर, उत्तर प्रदेश में चुनावी रैलियों, सभाओं का माहौल लगातार बना हुआ है क्योंकि शनिवार को ही चौथे चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार का अंतिम दिन है. इसी गहमागहमी के बीच UP Board Result 2019 शनिवार को आ रहे हैं. रिज़ल्ट को लेकर भी सरकारी और शैक्षणिक स्तर पर मुस्तैदी से काम जारी है. इस बार 58 लाख से ज्‍यादा छात्रों ने परीक्षा में हिस्‍सा लिया था. परिणाम देखने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं.

गलतफहमी के शिकार न हों छात्र, सरकार सुनेगी समस्याएं
चुनावों में उलझी हुई सरकार ने यूपी बोर्ड के नतीजों को लेकर भी पूरी तैयारी की है. शुक्रवार को यूपी बोर्ड के मुख्यालय के साथ ही क्षेत्रीय कार्यालयों में ग्रीवांस सेल का गठन हुआ. आपको बता दें कि ये न्यूज़18 की पहल का असर है कि इस साल छात्रों को अपनी शिकायतों के लिए ग्रीवांस सेल मिला है. मुख्यालय समेत सभी क्षेत्रीय कार्यालयों के लिए अलग-अलग फोन नंबर और ई-मेल किए गए जारी क‍िए गए हैं. परीक्षार्थी हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं से संबंधित अपनी समस्याएं दर्ज करा सकते हैं.

इस बार बेहतर होगा रिज़ल्ट
यूपी बोर्ड ने पिछले साल 29 अप्रैल को परिणाम घोषित किए थे. नतीजों की बात करें तो 2018 में 10वीं के 75.16% छात्र पास हुए थे और इलाहाबाद की अंजलि वर्मा ने 96% के साथ टॉप किया था. वहीं 12वीं में 72.43% छात्र पास हुए और फतेहपुर के रजनीश शुक्ला और बाराबंकी के आकाश मौर्या ने 93.20% अंकों के साथ पहला स्थान हासिल किया था. कहा जा रहा है कि इस बार और बेहतर नतीजे आ सकते हैं.

छात्र और पैरेंट्स ये भी खयाल रखें
यूपी बोर्ड के परीक्षा परिणामों के दौरान खास तौर से ध्यान रखें कि आपके बच्चे कहां और किस मन:स्थिति में हैं. उन्हें अकेला न छोड़ें और उनके साथ नरमी के साथ पेश आएं. याद रखें कि आपका साथ ही आपके बच्चों के लिए सबसे बड़ा हौसला है. बच्चों को समझाएं कि नंबर और कामयाबी के मौके भविष्य में और भी हैं. यह भी खयाल रखें कि चुनावी हलचलों के बीच टीवी या रैलियों में इतना न रम जाएं कि बच्चों की कामयाबी या उदासी नज़रअंदाज़ हो जाए.

न्‍यूज 18 हिंदी पर रिजल्‍ट चेक करने के लिए यहां क्‍लिक करें. 


ये भी पढ़ें:
12th में नंबर कम आने पर DU में एडमिशन न मिले तो इन यूनिवर्सिटी में करें ट्राई

UP Board Result 2019: जब यूपी के 150 स्कूलों में सभी छात्र हुए थे फेल

करियर और जॉब्स से संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading