लाइव टीवी

UP उपचुनाव 2019: बीजेपी को चेतावनी, सपा के लिए शुभ संकेत, बसपा का खस्ताहाल, कांग्रेस को करना होगा संघर्ष

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 24, 2019, 6:03 PM IST
UP उपचुनाव 2019: बीजेपी को चेतावनी, सपा के लिए शुभ संकेत, बसपा का खस्ताहाल, कांग्रेस को करना होगा संघर्ष
उपचुनाव 2019 (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जलालपुर सीट पर बसपा (BSP) ने अपने कद्दावर नेता लालजी वर्मा की बेटी को प्रत्याशी बनाया था. ये बसपा की सीट थी जिसे समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने छीन लिया है.

  • Share this:
लखनऊ. बीजेपी (BJP) के 11 विधानसभा चुनाव, चुनाव मिशन 2022 (Election mission 2022) के संकेत दे गए. उप चुनाव परिणामों ने जहां बीजेपी संगठन और सरकार के लिए चुनौती पेश कर दी वहीं समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की रणनीति पर मुहर लगा दी. पिछला विधानसभा चुनाव समाजवादी पार्टी ने कांग्रेस (Congress) के साथ मिलकर लड़ा था तो वहीं लोकसभा चुनाव बहुजन समाज पार्टी (BSP) के साथ मिलकर लड़ा लेकिन सपा हमेशा घाटे में नजर आई.

समाजवादी पार्टी ने खुद को किया मजबूत 
उप चुनाव में समाजवादी पार्टी ने खुद को मजबूत किया और अकेले मैदान में आई जिसका फायदा उपचुनाव के परिणाम बता रहे हैं. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव रामपुर छोड़कर कहीं प्रचार में भी नहीं गए. सीएम योगी आदित्यनाथ सभी सीटों पर प्रचार करने पहुंचे थे दूसरी तरफ बीजेपी संगठन ने सभी मंत्रियों को उप चुनाव सीटों पर जिम्मेदारी दी थी फिर भी बीजेपी ने अपनी एक सीट गंवा दी. दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी ने बढ़त बना ली. रामपुर, जैदपुर और जलालपुर में समाजवादी पार्टी ने जीत दर्ज की तो  वहीं बाकी सीटों पर संघर्षरत दिखी.

बसपा का बुरा हाल

गंगोह, प्रतापगढ़ और गोविंदनगर में कांग्रेस ने भी ताकत दिखाई. उपचुनाव में बसपा का सबसे बुरा हाल रहा. बसपा सुप्रीमो भी चुनाव प्रचार में नहीं उतरीं. लेकिन उनके प्रत्याशी भी कुछ खास नहीं कर पाए. जलालपुर सीट पर भी पार्टी संघर्ष करती नजर आई यहां से बसपा ने अपने कद्दावर नेता लालजी वर्मा की बेटी को प्रत्याशी बनाया था. ये बसपा की सीट थी जिसे समाजवादी पार्टी ने छीन लिया है. उपचुनावों का यह परिणाम बीजेपी के लिए सबक लेने वाला है, वहीं सपा के लिए अपनी रणनीति पर मुहर लगाने वाला है तो वहीं कांग्रेस के लिए अभी और मंथन का समय है.

ये भी पढ़ें- UP उपचुनाव 2019 में ओवैसी की AIMIM ने दिखाई ताकत, प्रियंका और मायावती को दिया ऐसे झटका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 6:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...