होम /न्यूज /राष्ट्र /नए सीबीआई प्रमुख की रेस में शॉर्टलिस्ट हुए ये तीन अधिकारी, जल्द नाम पर लग सकती है मुहर- सूत्र

नए सीबीआई प्रमुख की रेस में शॉर्टलिस्ट हुए ये तीन अधिकारी, जल्द नाम पर लग सकती है मुहर- सूत्र

वाईएसके कौमुदी, कुमार राजेश चंद्रा, एसचसी अवस्थी (बाएं से दाएं).

वाईएसके कौमुदी, कुमार राजेश चंद्रा, एसचसी अवस्थी (बाएं से दाएं).

केंद्रीय जांच एजेंसी के निदेशक के पद को लेकर पीएम आवास पर आज उच्च स्तरीय बैठक हुई. इस बैठक में कई अधिकारियों के नाम पर ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टिगेशन (CBI) के डायरेक्टर पद पर नियुक्ति को लेकर प्रधानमंत्री आवास पर सोमवार को बैठक हुई. सूत्रों के मुताबिक बैठक में जो तीन नाम शॉर्टलिस्ट हुए हैं, इन्हीं में से एक पर मुहर लग सकती है. शॉर्टलिस्ट हुए तीनों अधिकारी उत्तर प्रदेश, बिहार और आंध्र प्रदेश कैडर के हैं. इनमें से किसी एक को फरवरी से खाली पड़े सीबीआई डायरेक्टर के पद की जिम्मेदारी दी जा सकती है. चलिए जानते हैं इन तीनों अधिकारियों के बारे में-

    कुमार राजेश चंद्रा, एसएसबी, डीजी
    कुमार राजेश चंद्रा 1985 बैच के बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं. दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से उन्होंने अर्थशास्त्र में पीजी किया है. वे पटना सिटी में एएसपी रह चुके हैं. औरंगाबाद, सीवान, गोपालगंज, बेगूसराय, मुजफ्फरपुर, बोकारो, चतरा, धनबाद में पुलिस कप्तान रहने के साथ-साथ भागलपुर के पूर्वी रेंज के पुलिस उप महानिरीक्षक रहे. बिहार की स्पेशल ब्रांच के एसपी के तौर पर काम किया. राज्यपाल के एडीसी भी रहे. केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने के बाद वह प्रधानमंत्री की सुरक्षा में लगे SPG के डीआईजी और आईजी भी रहे. वे नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो के महानिदेशक के रूप में काम कर चुके हैं और फिलहाल सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक हैं. उन्हें पुलिस पदक, राष्ट्रपति पुलिस पदक, विशेष कर्तव्य पदक और आंतरिक सुरक्षा पदक मिल चुका है.

    वाईएसके कौमुदी, विशेष सचिव, गृह मंत्रालय
    सीनियर आईपीएस वाईएसके कौमुदी आंध्र प्रदेश कैडर के 1986 बैच के आईपीएस ऑफिसर हैं. इस वक्त वे गृह मंत्रालय में स्पेशल सेक्रेटरी के तौर पर तैनात हैं. कौमुदी का कार्यकाल 30 नवंबर 2022 तक के लिए है. वे ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट (बीपीआर&डी) के डीजी के रूप में काम कर चुके हैं.

    ये भी पढ़ें- भारत बायोटेक ने Covaxin के इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए  WHO से मांगी मंजूरी

    हितेश चंद्र अवस्थी , यूपी डीजीपी
    सीनियर आईपीएस हितेश चंद्र अवस्थी इस वक्त उत्तर प्रदेश के डीजीपी का कार्यभाल संभाल रहे हैं. 2005 से 2008 तक नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) में डीआईजी और डिप्टी डायरेक्टर रहे. 2008 से 2013 तक सीबीआई में आईजी एवं ज्वाइंट डाइरेक्टर के पद पर रह चुके हैं. 2 बार वे प्रदेश के गृह विभाग में विशेष सचिव भी रहे. अविभाजित उत्तर प्रदेश में टिहरी गढ़वाल और हरिद्वार के एसपी रह चुके हैं. 2016 में एडीजी से डीजी पद पर प्रमोट हुए और डीजीपी मुख्यालय, टेलीकॉम, होमगार्ड्स, एंटी करप्शन आर्गनाइजेशन (एसीओ), आर्थिक अपराध और अनुसंधान शाखा (ईओडब्ल्यू) में डीजी के पद पर किया. साल 2017 से यूपी डीजीपी बनने तक वे डीजी विजिलेंस के पद पर कार्यरत रहे हैं.

    Tags: CBI, Central Bureau of Investigation

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें