Lockdown 4.0: प्रवासी मजदूरों को लेकर UP सरकार ने उठाया बड़ा कदम, बनाएगी 'प्रवासी आयोग', श्रमिकों को मिलेगी ये गारंटी

Lockdown 4.0: प्रवासी मजदूरों को लेकर UP सरकार ने उठाया बड़ा कदम, बनाएगी 'प्रवासी आयोग', श्रमिकों को मिलेगी ये गारंटी
यह आज से तो नहीं कहा जा रहा कि देश में भयंकर पलायन है.

अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath)के निर्देश पर 'प्रवासी आयोग' गठित किया जाएगा, जिसके तहत श्रमिकों को रोजगार मुहैया कराकर सामाजिक सुरक्षा की गारंटी दी जाएगी.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार प्रवासी कामगारों (Migrant Workers)के सेवायोजन के लिए प्रवासी आयोग बनाने जा रही है. अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath)के निर्देश पर 'प्रवासी आयोग' गठित किया जाएगा, जिसके तहत श्रमिकों को रोजगार मुहैया कराकर सामाजिक सुरक्षा की गारंटी दी जाएगी.

मुख्‍यमंत्री ने दिया ये निर्देश
अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कामगारों को सेवायोजित करने के लिए प्रवासी आयोग गठित करने की रूपरेखा प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है. योगी ने कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों से अब तक 23 लाख कामगारों को प्रदेश वापस लाया गया है. राज्य सरकार इन सभी की सुरक्षित व सम्मानजनक वापसी के लिए कटिबद्ध है.

श्रमिकों मिलेगा बीमा का लाभ



यही नहीं, सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने राज्य वापस आने वाले सभी श्रमिकों को राज्य स्तर पर बीमा का लाभ देने की व्यवस्था करने के निर्देश देते हुए कहा कि इससे इनका जीवन सुरक्षित हो सकेगा. ऐसी कार्य योजना तैयार की जाए, जिससे कामगारों को रोजगार सुरक्षा मिल सके.



लॉकडाउन का सख्‍ती से हो पालन
साथ ही अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन को सख्ती से लागू करने के निर्देश देते हुए कहा कि पुलिस और प्रशासन के अधिकारी नियमित रूप से पैदल गश्त करें और कहीं भी भीड़ एकत्रित न होने दें.पीआरवी 112 की वैन लगातार गश्त करें. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने सभी मण्डलायुक्तों, जिलाधिकारियों, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों, पुलिस अधीक्षकों को पृथक-वास केंद्र, सामुदायिक रसोई, कोविड अस्पतालों इत्यादि का नियमित रूप से निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस और प्रशासन आपस में अच्छा समन्वय स्थापित करें, तभी लॉकडाउन सफल हो सकेगा. उन्होंने मास्क न पहनने वालों का चालान करने के निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे लोगों को आजीविका मिशन के तहत निर्मित मास्क उपलब्ध कराए जाएं. जबकि मार्ग दुर्घटनाओं को रोकने के उद्देश्य से गश्त बढ़ाई जाए.

ईद को लेकर दिया ये निर्देश
अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी के मुताबिक, सीएम योगी ने कहा कि कल ईद है. इसके मद्देनजर पुलिस व प्रशासन संयुक्त रूप से गश्त करें. कोरोना संक्रमण के कारण ईद पर कोई समारोह आयोजित न किया जाए और सभी इस संक्रमण से बचते हुए घर पर ही ईद मनाएं. इसके अलावा अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में अब तक लगभग 1113 ट्रेन आ चुकी हैं और इनके माध्यम से 15 लाख प्रवासी श्रमिक आ चुके हैं. रविवार रात तक 103 ट्रेन आएंगी. आगे जो ट्रेनों की अनुमति दी है, उन्हें जोड़ लिया जाए तो 1321 ट्रेनों की व्यवस्था हो चुकी है और 18 लाख से अधिक लोग प्रदेश में आ चुके होंगे. अगले तीन-चार दिन में अधिक से अधिक प्रवासी कामगारों को लाने की कोशिश की जाएगी.

ये भी पढ़ें

25 मई से शुरू होंगी घरेलू उड़ानें, UP सरकार ने जारी की गाइडलाइंस

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading