होम /न्यूज /राष्ट्र /छात्रों के लिए खुशखबरी! अमेरिका में पढ़ाई करने वाले अब वीज़ा के लिए कर सकते हैं अप्लाई; 14 अगस्त से शुरू होंगे इंटरव्यू

छात्रों के लिए खुशखबरी! अमेरिका में पढ़ाई करने वाले अब वीज़ा के लिए कर सकते हैं अप्लाई; 14 अगस्त से शुरू होंगे इंटरव्यू

 इंटरव्यू के स्लॉट्स 14 अगस्त से खुल जाएंगे. अप्वाइंटमेंट के लिए छात्र अभी से अप्लाई कर सकते हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

इंटरव्यू के स्लॉट्स 14 अगस्त से खुल जाएंगे. अप्वाइंटमेंट के लिए छात्र अभी से अप्लाई कर सकते हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

US Embassy Student Visa: दूतावास के मुताबिक जिन छात्रों को अगस्त के मध्य तक कॉलेज जाने की जरूरत है वो अब वीजा इंटरव्यू ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. अमेरिका में पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए एक अच्छी खबर है. इस साल जो भी स्टूडेंट्स वहां एडमिशन लेने वाले हैं उनके लिए वीज़ा देने की प्रक्रिया जल्द शुरू होने वाली है. अमेरिकी दूतावास ने इसको लेकर एक नोटिस जारी किया है. इसके मुताबिक इंटरव्यू के स्लॉट्स 14 अगस्त से खुल जाएंगे. अप्वाइंटमेंट के लिए छात्र अभी से अप्लाई कर सकते हैं.

दूतावास के मुताबिक जिन छात्रों को अगस्त के मध्य तक कॉलेज जाने की जरूरत है वो अब वीजा इंटरव्यू स्लॉट के लिए अप्लाई कर सकते हैं. नोटिस में लिखा है- ‘इंटरव्यू स्लॉट अब I-20 वाले छात्रों के लिए उपलब्ध हैं, जिन्हें 14 अगस्त के बाद साक्षात्कार के लिए दूतावास और वाणिज्य दूतावास में वीजा प्रकार F, M और J के लिए आवेदन करने की आवश्यकता है.’

बता दें कि कई छात्र जो अमेरिकी विश्वविद्यालयों में पढ़ाई लेने की योजना बना रहे थे और जिन्हें वहां से अपने I-20 डॉक्यूमेंट पहले ही मिल गए थे, वे अपने वीज़ा इंटरव्यू का इंतज़ार कर रहे थे. अब इन सबके लिए राहत की खबर है.

वीज़ा का ऐलान

बढ़ेगी वीज़ा की संख्या
कुछ दिन पहले अमेरिकी दूतावास ने कहा था कि वो भारत में अगले 12 महीनों में 8 लाख वीजा जारी करने की प्रक्रिया पूरी करने जा रहा है. अमेरिकी दूतावास में कांसुलर मामलों के मंत्री काउंसलर डोनाल्ड एल हेफ्लिन ने बताया था कि 2023 या 2024 तक वीजा प्रोसेसिंग की संख्या बढ़ा दी जाएगी. कोरोना के चलते इसकी संख्या में कमी आई थी.

भारत ने उठाया था मुद्दा
पिछले हफ्ते भारत ने ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, ब्रिटेन, अमेरिका, जर्मनी और कई अन्य देशों के सामने भारतीय छात्रों को वीजा दिए जाने में लंबे समय से हो रही देरी के मुद्दे को उठाया था. सूत्रों ने बताया कि हजारों भारतीय छात्र ऑफलाइन कक्षाएं लेने के लिए इन देशों में लौटने के लिए संघर्ष कर रहे हैं क्योंकि संबंधित दूतावासों द्वारा उन्हें वीजा दिए जाने में काफी देरी हो रही है.

क्या कहा था विदेश मंत्रालय ने?
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने चर्चा को ‘‘सार्थक’’ बताया था. उन्होंने ट्वीट किया था, ‘ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चेक गणराज्य, जर्मनी, न्यूजीलैंड, पोलैंड, ब्रिटेन तथा अमेरिका के साथ काम कर रहे विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने भारतीय नागरिकों को छात्र वीजा देने के बारे में इन देशों के वरिष्ठ राजनयिकों/मिशनों के प्रमुखों के साथ सार्थक चर्चा की. वे इस प्रक्रिया को आसान बनाने तथा उसमें तेजी लाने के लिए बातचीत करने पर सहमत हुए क्योंकि छात्रों की आवाजाही परस्पर रूप से लाभकारी रही है.’ (भाषा इनपुट के साथ)

Tags: US Visa

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें