Home /News /nation /

अफगानिस्तान पर अमेरिकी दूत थॉमस वेस्ट ने अजीत डोवाल और हर्षवर्द्धन श्रृंगला से वार्ता की

अफगानिस्तान पर अमेरिकी दूत थॉमस वेस्ट ने अजीत डोवाल और हर्षवर्द्धन श्रृंगला से वार्ता की

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल. (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल. (फाइल फोटो)

अफगानिस्तान (Afghanistan) के लिए अमेरिका (America) के नवनियुक्त विशेष प्रतिनिधि थॉमस वेस्ट ने मंगलवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल (NSA Ajit Doval) और विदेश सचिव हर्षवर्द्धन श्रृंगला (Harsh Vardhan Shringla) से अलग अलग वार्ता की जिसमें युद्ध से प्रभावित रहे देश के ताजा घटनाक्रम पर ध्यान केंद्रित किया गया. वार्ता के दौरान अफगानिस्तान के भीतर और वहां से बाहर लोगों की आवाजाही, मानवीय सहायता के वैश्विक प्रयासों के समन्वय के रास्तों और क्षेत्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों सहित अन्य मुद्दे सामने आए. सूत्र ने बताया, ‘चर्चा अफगानिस्तान के ताजा घटनाक्रम पर केंद्रित रही.’

अधिक पढ़ें ...

    नयी दिल्ली. अफगानिस्तान (Afghanistan) के लिए अमेरिका (America) के नवनियुक्त विशेष प्रतिनिधि थॉमस वेस्ट ने मंगलवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल (NSA Ajit Doval) और विदेश सचिव हर्षवर्द्धन श्रृंगला (Harsh Vardhan Shringla) से अलग अलग वार्ता की जिसमें युद्ध से प्रभावित रहे देश के ताजा घटनाक्रम पर ध्यान केंद्रित किया गया. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि वार्ता के दौरान अफगानिस्तान के भीतर और वहां से बाहर लोगों की आवाजाही, मानवीय सहायता के वैश्विक प्रयासों के समन्वय के रास्तों और क्षेत्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों सहित अन्य मुद्दे सामने आए. उन्होंने बताया कि वार्ता के दौरान भारत की मेजबानी में अफगानिस्तान के विषय पर आयोजित क्षेत्रीय सम्मेलन तथा आपसी हितों से जुड़े क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्दे भी उठे.

    सूत्र ने बताया, ‘चर्चा अफगानिस्तान के ताजा घटनाक्रम पर केंद्रित रही.’ गौरतलब है कि भारत ने 10 नवंबर को अफगानिस्तान पर क्षेत्रीय सम्मेलन का आयोजन किया था जिसमें रूस, ईरान, कजाखस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, उज्बेकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों ने हिस्सा लिया था. अफगान संकट पर भारत की मेजबानी में हुई सुरक्षा वार्ता में आठ देशों के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों ने अफगानिस्तान की संप्रभुता,एकता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करने तथा इसके अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप नहीं करने की जरूरत पर जोर दिया गया था. दिल्ली क्षेत्रीय सुरक्षा वार्ता के अंत में इन आठ देशों ने एक घोषणापत्र में यह बात दोहराई गई थी कि आतंकवादी गतिविधियों को पनाह, प्रशिक्षण, साजिश रचने देने या वित्तपोषण करने देने में अफगान भू-भाग का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए.

    ये भी पढ़ें :   2024 तक नेवी के बेड़े में शामिल हो जाएंगे 4 मिसाइल विध्वंसक पोत, अगले हफ्ते मिलेगा पहला

    ये भी पढ़ें :  जम्मू-कश्मीर: संदिग्ध कॉल सेंटर में छिपे आतंकियों ने बरसाई गोलियां, 2 की मौत, सेना ने संभाला मोर्चा

    अफगानिस्तान में मंडराते मानवीय संकट का जिक्र करते हुए इसमें कहा गया था कि अधिकारियों ने अफगान लोगों को सहायता निर्बाध, सीधे तौर पर और आश्वस्त तरीके से उपलब्ध कराने की हिमायत की तथा कहा कि वह सहायता अफगान समाज के सभी तबकों के बीच गैर-भेदभावकारी तरीके से वितरित की जाए.

    इसी नवंबर माह में भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल की अध्यक्षता में अफगानिस्तान संकट को लेकर बैठक आयोजित हुई थी. बैठक में डोवाल ने कहा, ‘आज इस वार्ता को आयोजित करना भारत के लिए सौभाग्य की बात है. हम अफगानिस्तान में घटनक्रमों पर बारीकी से नजर रख रहे हैं. केवल अफगानिस्तान के लोगों पर ही नहीं, बल्कि इसके पड़ोसियों और क्षेत्र पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे भरोसा है कि हमारा विचार विमर्श अफगान लोगों की मदद करने और हमारी सुरक्षा में योगदान देगा.’

    Tags: Afghanistan, America, Harsh Vardhan Shringla, NSA Ajit Doval

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर