भारत के निजी अस्पतालों को दुनिया में सबसे महंगे दाम पर कोविशील्ड देगी SII

कोरोना-रोधी वैक्सीन कोविशील्ड. (फाइल फोटो)

कोरोना-रोधी वैक्सीन कोविशील्ड. (फाइल फोटो)

कोविशील्ड के एक डोज़ की कीमत की बात करें तो 27-देशों का समूह यूरोपीय यूनियन इस वैक्सीन की एक शॉट के लिए $2.15- $ 3.50 (161.723 रुपये से 263.27 रुपये के बीच) भुगतान कर रहा है. वहीं यूके लगभग $ 3 (225.66 रुपये) प्रति खुराक, जबकि अमेरिका को $4 (300.88 रुपये) प्रति खुराक पर वैक्सीन मिल रही है,

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2021, 11:48 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. टीका बनाने वाली (Anti Coronavirus Vaccine) दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने कहा है कि कोविड-19 टीका ‘कोविशील्ड’ की कीमत राज्य सरकारों के लिए 400 रुपये प्रति खुराक तथा निजी अस्पतालों के लिए 600 रुपये प्रति खुराक होगी. कंपनी के CEO ने यह भी कहा कि 150 रुपये प्रति खुराक का मौजूदा अनुबंध समाप्त होने के बाद केंद्र सरकार के लिये भी दर 400 रुपये प्रति खुराक होगी. वैक्सीन की पहली शिपमेंट जाने के बाद पूनावाला ने कहा था कि- 'हमने केवल भारत सरकार को पहले 100 मिलियन डोज़ के लिए 200 रुपये की विशेष कीमत दी है और बाद में हम बाजार में 1,000 रुपये में बेचेंगे.' लेकिन SII द्वारा तय की गई कीमत किसी भी वैश्विक बाजार के मुकाबले अधिक है.

अगर राज्य यह फैसला करेंगे कि वे खुराक खरीदने की लागत अदा नहीं कर पायेंगे तो सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण करवा रहे भारतीयों को अपनी जेब से प्रति डोज़ 400 रुपये (या $ 5.30 से अधिक) का भुगतान करना पड़ सकता है. यह कीमत उससे अधिक है जिस पर अमेरिका, ब्रिटेन और यूरोपीय संघ जैसे देशों में सरकारें सीधे एस्ट्राजेनेका से वैक्सीन खरीद रही हैं.

SII से वैक्सीन की आपूर्ति के लिए बांग्लादेश, सऊदी अरब और दक्षिण अफ्रीका जैसे देशों द्वारा तय मूल्य से भी अधिक है. इनमें से अधिकांश देशों में वैक्सीन्स के डोज फ्री दिये जा रहे हैं.  स्वीडिश-ब्रिटिश ड्रग निर्माता से लाइसेंस के तहत SII एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड द्वारा विकसित वैक्सीन का निर्माण कर रहा है और भारत में वैक्सीन ट्रायल भी किया है.

अमेरिका, ब्रिटेन,  यूरोप क्या कर रहे पेमेंट?
SII के सीईओ अदार पूनावाला ने एक समाचार चैनल से बातचीत में बुधवार को कहा था कि शुरुआती 10 करोड़ खुराक का अनुबंध समाप्त होने के बाद केंद्र सरकार से भी 400 रुपये प्रति खुराक की दर से राशि ली जाएगी. उन्होंने कहा, ‘मैं यह साफ कर दूं कि कीमत अलग-अलग नहीं है. नये अनुबंधों के लिये सभी सरकारों के लिये कीमत 400 रुपये ही होगी.’ पूनावाला ने कहा कि पिछली कीमत शुरुआती कीमत थी. उस समय काफी चीजें स्पष्ट नहीं थी. यह भी पता नहीं था कि टीका काम करेगा या नहीं. यह ‘जोखिम साझा कीमत’ थी जिसकी सीमिति मात्रा की आपूर्ति को लेकर सहमति जतायी गयी थी.

कोविशील्ड के एक डोज़ की कीमत की बात करें तो 27-देशों का समूह यूरोपीय यूनियन इस वैक्सीन के एक शॉट के लिए $2.15- $ 3.50 (161.723 रुपये से 263.27 रुपये के बीच) भुगतान कर रहा है. यूरोपीय संघ ने 400 मिलियन खुराक के बदले अगस्त 2020 में एस्ट्राज़ेनेका में $399 मिलियन निवेश किया था. ब्रिटिश मेडिकल जर्नल द्वारा संकलित आंकड़ों के अनुसार, यूके लगभग $ 3 (225.66 रुपये) प्रति खुराक का भुगतान कर रहा है और अमेरिका को $4 (300.88 रुपये) प्रति खुराक पर वैक्सीन की पेशकश की गई है. यूएस और यूके दोनों सीधे एस्ट्राजेनेका को पेमेंट कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज