लाइव टीवी

इमरान खान को डोनाल्ड ट्रंप देंगे एक और झटका, 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में हो सकते हैं शरीक

News18Hindi
Updated: September 15, 2019, 4:46 PM IST
इमरान खान को डोनाल्ड ट्रंप देंगे एक और झटका, 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में हो सकते हैं शरीक
संयुक्त राष्ट्र (United Nation) में भाषण देने से पहले प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) और पाक पीएम इमरान खान (Imran Khan) 21 तारीख को अमेरिका (America) पहुंचेंगे.

संयुक्त राष्ट्र (United Nation) में भाषण देने से पहले प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) और पाक पीएम इमरान खान (Imran Khan) 21 तारीख को अमेरिका (America) पहुंचेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2019, 4:46 PM IST
  • Share this:
कश्मीर मुद्दे पर समर्थन के लिए दुनिया भर के देशों से बात कर रहे पाकिस्तान (Pakistan) को अमेरिका  (America) से एक बार फिर झटका लग सकता है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) यह सोच रहे हैं कि वह कश्मीर (Kashmir) मसले को अमेरिकी चौखट तक ले जाएंगे, लेकिन इसकी उम्मीद न के बराबर लग रही है कि कोई उनके झूठ सुनेगा भी.

इमरान खान की योजना है कि वह सितंबर के आखिर में संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के भाषण में और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) से मिलकर भारत के आंतरिक मुद्दे यानी कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने पर बात करेंगे. हालांकि इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के कार्यक्रमों की जो धूम होगी, इस दौरान शायद ही कोई इमरान के फर्जी दावों पर ध्यान दे. जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने पर बौखलाए पाकिस्तान के पीएम इमरान खान, अपनी यात्रा के दौरान दो बार ट्रंप से मिलेंगे.

Howdy Modi में ट्रंप हो सकते हैं शामिल!
वहीं खबर है कि अमेरिका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम 'Howdy Modi' में खुद ट्रंप शामिल हो सकते हैं. बता दें 22 सितंबर को ह्यूस्टन में मोदी भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे. इस कार्यक्रम में 50 हजार से ज्यादा लोगों के मौजूदगी की संभावना है. Howdy Modi नाम के इस कार्यक्रम में ट्रंप के शामिल होने की संभावना है.

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र में भाषण देने से पहले प्रधानमंत्री मोदी और पाक पीएम इमरान खान 21 तारीख को अमेरिका पहुंचेंगे. यहां दोनों 27 सितंबर को ही UNGA में भाषण देंगे. UNGA से अलग पीएम मोदी दुनिया भर के नेताओं से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे. पीएम मोदी के साथ विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी अमेरिका में होंगे जो अपने समकक्षों संग बैठक करेंगे.

पाक के लिए किसी झटके से कम नहीं
यह स्पष्ट तौर पर पाकिस्तान के लिए किसी झटके से कम नहीं है, क्योंकि भारत के आंतरिक मसले पर उसके झूठे दावों पर कोई ध्यान नहीं देने वाला. यह इमरान खान की अमेरिका की दूसरी यात्रा होगी. जुलाई में खान ने ट्रंप के साथ एक बैठक की थी, जिसके दौरान उन्होंने कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच 'मध्यस्थता' करने की पेशकश की थी.
Loading...

ट्रंप ने तब दावा किया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए कहा था. हालांकि, भारत सरकार ने राष्ट्रपति ट्रंप के आश्चर्यजनक दावे से इनकार किया था.

इमरान ने उगला जहर
गौरतलब है कि बीते दिनों इमरान ने पाक अधिकृत कश्मीर में रैली की थी. इस दौरान इमरान ने भारत के खिलाफ जमकर जहर उगला था. उन्होंने कहा, 'मुझे पता है कि आप लोग LoC पार जाना चाहते हो लेकिन अभी नहीं... अभी मैं यूएन जाकर दुनिया कश्मीर के बारे में बताऊंगा.'

भारत ने अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त कर दिया और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया.  इस फैसले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव और बढ़ गया. फैसले पर पाकिस्तान ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी. भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से स्पष्ट रूप से कहा है कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना उसका आंतरिक मामला है और पाकिस्तान को इस वास्तविकता को स्वीकार कर लेना चाहिए.

यह भी पढ़ें: बालाकोट का सच : ये 4 झूठ बोलकर दुनिया के सामने बेनकाब हुआ पाकिस्तान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 15, 2019, 9:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...