अपना शहर चुनें

States

नागपुर से है जो बाइडेन का पुराना नाता, रहते हैं रिश्‍तेदार, जानिए सब कुछ

अमेरिका के 46वें राष्‍ट्रपति बनने जा रहे हैं जो बाइडेन. (File Pic)
अमेरिका के 46वें राष्‍ट्रपति बनने जा रहे हैं जो बाइडेन. (File Pic)

जो बाइडेन (Joe Biden) का भी भारत से खास कनेक्‍शन है. यहां नागपुर (Nagpur) में उनके रिश्‍तेदार रहते हैं. इसका जिक्र उन्‍होंने कई बार अपने भाषण में भी किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 6:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. जो बाइडेन (Joe Biden) बुधवार को अमेरिका के 46वें राष्‍ट्रपति पद (US President) की शपथ लेंगे. उनके साथ ही भारतीय अमेरिकी मूल की कमला हैरिस (Kamala Harris) भी उप राष्‍ट्रपति पद की शपथ लेंगी. कमला हैरिस का गांव भारत में ही है. यह गांव तमिलनाडु में है. लेकिन जो बाइडेन का भी भारत से खास कनेक्‍शन है. यहां नागपुर (Nagpur) में उनके रिश्‍तेदार रहते हैं. इसका जिक्र उन्‍होंने कई बार अपने भाषण में भी किया है. हालांकि उन्‍होंने उनके मुंबई में रहने की बात की थी, लेकिन असल में ये रिश्‍तेदार नागपुर में रहते हैं. जो बाइडेन के अमेरिकी राष्‍ट्रपति बनने को लेकर उनमें बेहद उत्‍साह देखा जा सकता है.

टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार जो बाइडेन की रिश्‍तेदार सोनिया बाइडेन फ्रांसिस का कहना है, 'हम इस मामले में चुप ही रहना पसंद करते हैं क्‍योंकि हम नहीं चाहते कि हम चकाचौंध में आएं. हम मीडिया की चकाचौंध को लेकर असहज रहते हैं क्‍योंकि कई बार तथ्‍यों को गलत तरीके से परोसा जाता है. हम वंशावली के जरिये आपस में जुड़े हुए हैं. हम प्रत्‍येक की काफी संपन्‍न पृष्‍ठभूमि रही है.'





सोनिया बाइडेन फ्रांसिस नागपुर की रहने वाली स्‍वर्गीय लेस्‍ली बाइडेन के 14 पड़पोते-पड़पोतियों में से एक हैं. लेस्‍ली और जो बाइडेन के पूर्वज एक ही होने के कारण ये सभी आपस में जुड़े हुए हैं. 1981 में लेस्‍ली ने 'इलस्‍ट्रेटेड वीकली ऑफ इंडिया' में एक आर्टिकल देखा था. उसका शीर्षक 'अमेरिकन एक्‍सप्रेस' था. उसे जो बाइडेन ने लिखा था. वह उस समय अमेरिकी संसद के सदस्‍य थे.
इसके बाद लेस्‍ली ने जो को एक पत्र लिखा और अपने पारिवारिक रिश्‍तों के बारे में चर्चा करनी चाही. जो बाइडेन ने लेस्‍ली के पत्र पर प्रतिक्रिया दी और कहा कि उन्‍हें खुशी है कि उन्‍हें लेस्‍ली का पत्र प्राप्‍त हुआ. दोनों को इस दौरान जानकारी हुई कि दोनों के वंशज एक ही हैं. ऐसे में दोनों ने भविष्‍य में इस पर चर्चा करने की बात कही. लेस्‍ली का 1983 में निधन हो गया. इसके बाद उनके पति जेनेवीव ने जो बाइडेन के साथ संवाद को आगे नहीं बढ़ाया.

वहीं 21 सितंबर, 2015 को 'यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल' को संबोधित करते हुए बाइडेन ने कहा था कि 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई' और मेरे पूर्वज शायद एक थे, 1848 में जो 'ईस्ट इंडिया टी कंपनी' के लिए काम करते थे. उन्होंने शायद किसी भारतीय महिला से शादी कर ली और भारत में ही रह गए. मुंबई में 2013 में बाइडेन ने लोगों से कहा था अगर यह सच है तो मैं भारत में भी चुनाव लड़ सकता हूं. उनके इस भाषण के दौरान वहां मौजूद दर्शकों के बीच हंसी की एक लहर दौड़ गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज