US Presidential Election 2020: कमला हैरिस के चाचा ने जताई बाइडन के जीतने की उम्‍मीद

कमला हैरिस के चाचा जी बालाचंद्रन ने दी प्रतिक्रिया.
कमला हैरिस के चाचा जी बालाचंद्रन ने दी प्रतिक्रिया.

US Presidential Election 2020: भारत में कमला हैरिस (Kamala Harris) के चाचा और इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिफेंस स्‍टडीज एंड एनालिसिस के पूर्व डायरेक्‍टर जी बालाचंद्रन ने भी अमेरिकी चुनाव को लेकर प्रतिक्रिया दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2020, 12:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव (US Presidential Election 2020) के लिए मंगलवार रात से ही मतगणना जारी है. डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडन (Joe Biden) और रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के बीच कांटे की टक्‍कर नजर आ रही है. वहीं उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार के तौर पर कमला हैरिस (Kamala Harris) भी मैदान में हैं. वह भारतीय मूल की अमेरिकी हैं. भारत में उनके चाचा और इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिफेंस स्‍टडीज एंड एनालिसिस के पूर्व डायरेक्‍टर जी बालाचंद्रन ने भी अमेरिकी चुनाव को लेकर प्रतिक्रिया दी है.

कमला हैरिस के चाचा जी बालाचंद्रन ने कहा है, 'मैं आशा करता हूं कि जो बाइडन की जीत हो. फ्लोरिडा महत्वपूर्ण है क्योंकि अगर डोनाल्‍ड ट्रंप वहां हार गए तो उन्हें अलविदा कहना होगा. लेकिन यह बाइडन के लिए कोई मायने नहीं रखेगा क्योंकि वह अन्य राज्यों में जीत दर्ज कर सकते हैं.'


बता दें कि कमला हैरिस की जीत के लिए तमिलनाडु में स्थित उनके पैतृक गांव तुलासेंतिरापुरम के लोगों ने मंगलवार को विशेष प्रार्थना सभा का आयोजन किया था. हैरिस इसी छोटे से गांव से संबंध रखती हैं. राज्य के तिरुवरूर जिले में स्थित इस गांव में कई जगह पोस्टर लगे हुए हैं, जिसमें हैरिस को जीत के लिए शुभकामनाएं दी गई हैं. इसके अलावा स्थानीय लोग उनकी सफलता के लिए विशेष प्रार्थना सभाएं आयोजित कर रहे हैं.



यह भी पढ़ेंं:  US Election 2020 Live: बाइडन को अब तक मिले 129 और ट्रंप को 109 इलेक्टोरल वोट

अमेरिका में इस बार राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी की ओर से डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से जो बाइडन उम्मीदवार हैं. वहीं उपराष्ट्रपति पद के लिये रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार माइक पेंस का सामना डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार कमला हैरिस से है. हैरिस के पिता जमैका से जबकि मां भारत से संबंध रखती थीं.



हैरिस के नाना पीवी गोपालन पूर्व राजनयिक तथा इस गांव के निवासी थे. इस गांव के निवासी अपनी नवासी को चुनाव में जीतते हुए देखना चाहते हैं. हैरिस के लिये स्थानीय धर्मशास्थ मंदिर में विशेष प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया, जिसमें गांव वासियों ने हिस्सा लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज