2+2 बैठक के पहले अमेरिकी समकक्ष के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मुलाकात

अमेरिकी समकक्ष मार्क एस्पर के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह.
अमेरिकी समकक्ष मार्क एस्पर के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह.

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) के ट्विटर हैंडल से इसकी जानकारी दी गई है. ट्वीट में कहा गया है कि भारत अमेरिकी रक्षा मंत्री डॉ. मार्क एस्पर (Mark Esper) का स्वागत करता है. हमारी आज की बातचीत फलदायी रही और भविष्य में रक्षा क्षेत्र में सहयोग को और बढ़ाने पर सहमति बनी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 7:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 2+2 बैठक के लिए भारत पहुंचे अपने अमेरिकी समकक्ष मार्क एस्पर (Mark Esper) के साथ सोमवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने मुलाकात की. 2+2 बैठक मंगलवार से शुरू होनी है. इसके लिए अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर के साथ विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (Michael Pompeo) भी भारत पहुंचे हैं. दोनों नेताओं को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया.

राजनाथ सिंह और मार्क एस्पर की मुलाकात के दौरान सीडीएस बिपिन रावत, आर्मी चीफ एमएम नरवणे, वायुसेना चीफ आरकेएस भदौरिया और नेवी चीफ करमबीर सिंह भी मौजूद रहे. राजनाथ सिंह के ट्विटर हैंडल से इसकी जानकारी दी गई है. ट्वीट में कहा गया है कि भारत अमेरिकी रक्षा मंत्री डॉ. मार्क एस्पर का स्वागत करता है. हमारी आज की बातचीत फलदायी रही और भविष्य में रक्षा क्षेत्र में सहयोग को और बढ़ाने पर सहमति बनी है. आज की बातचीत से अमेरिका-भारत संबंध में और प्रगाढ़ता आएगी.






कल से शुरू होगी 2+2 बैठक
इस बैठक में भारतीय पक्ष का नेतृत्व विदेश मंत्री एस जयशंकर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह करेंगे. यह बैठक ऐसे समय में हो रही है, जब भारत का चीन के साथ सीमा पर गतिरोध जारी है और इस मुद्दे पर भी चर्चा होने की उम्मीद है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के दो प्रमुख अधिकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल से भी मुलाकात करेंगे.

अमेरिका पिछले कुछ महीनों में विभिन्न मुद्दों को लेकर चीन की काफी आलोचना करता रहा है. इन मुद्दों में भारत के साथ सीमा विवाद, दक्षिण चीन सागर में उसकी बढ़ती सैन्य आक्रामकता, और हांगकांग में सरकार-विरोधी प्रदर्शनों से निपटने के तरीके शामिल हैं.

पोम्पिओ की यात्रा से पहले अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका भारत के एक प्रमुख क्षेत्रीय और वैश्विक शक्ति के रूप में उभरने का स्वागत करता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज