कोरोना संकट से जूझते भारत के लिए 24 घंटे काम करेंगे काम, देंगे हर मदद: अमेरिका

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत ने यह बात कही है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भी पीएम नरेंद्र मोदी से बातचीत की है.)

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत ने यह बात कही है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भी पीएम नरेंद्र मोदी से बातचीत की है.)

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में अमेरिका की राजदूत लिंडा थॉमस ग्रीनफील्ड (Linda Thomas-Greenfield) ने एक वर्चुअल संवाद में कहा, ‘मैं भारत में भयावह स्थिति के बारे में बताने के लिए एक मिनट लेना चाहती हूं. वहां कोविड-19 के मामलों में हाल में हुई वृद्धि काफी भयानक है. अमेरिका भारत के लोगों के साथ खड़ा है.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 5:42 PM IST
  • Share this:
संयुक्त राष्ट्र. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में अमेरिका की राजदूत ने सोमवार को कहा कि वाशिंगटन कोविड-19 (Covid-19) के मामलों में ‘भयावह’ वृद्धि का सामना कर रहे भारत की मदद के लिए 24 घंटे काम करेगा. उन्होंने कहा कि इसके अलावा अमेरिका टीकों के लिए कच्ची सामग्री, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन उत्पादन आपूर्ति तथा टीकाकरण विस्तार के लिए वित्तीय सहायता सहित हर मदद उपलब्ध कराने पर काम कर रहा है.

राजदूत लिंडा थॉमस ग्रीनफील्ड ने एक वर्चुअल संवाद में कहा, ‘मैं भारत में भयावह स्थिति के बारे में बताने के लिए एक मिनट लेना चाहती हूं. वहां कोविड-19 के मामलों में हाल में हुई वृद्धि काफी भयानक है. अमेरिका भारत के लोगों के साथ खड़ा है.’

Youtube Video


भारत को टीकों के लिए कच्ची सामग्री समेत सभी जरूरी चीजें मुहैया कराएंगे
उन्होंने कहा कि भारत को टीकों के लिए कच्ची सामग्री, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन उत्पादन आपूर्ति, त्वरित जांच किट तथा टीकाकरण विस्तार के लिए वित्तीय सहायता सहित हर मदद उपलब्ध कराने के लिए अमेरिका वह सब कर रहा है जो वह कर सकता है. ग्रीनफील्ड ने कहा, ‘हम अपने सहयोगी (भारत) की मदद करने के लिए 24 घंटे काम करेंगे.’

बाडइन ने किया ट्वीट

अमेरिकी राष्ट्रपति जो. बाइडन ने रविवार को एक ट्वीट में कहा था, ‘महामारी की शुरुआत में जब हमारे अस्पताल भरे थे और उस समय जिस तरह भारत ने अमेरिका को मदद भेजी थी, ठीक उसी तरह हम भी आवश्यकता की घड़ी में भारत की मदद करने के लिए कटिबद्ध हैं.’



इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत में भी जो बाइडेन ने भारत को कोरोना वायरस वैक्सीन के लिए कच्चे माल और दवाओं की निर्बाध प्रभावी आपूर्ति के महत्व को दोहराया. उन्होंने कहा भारत और अमेरिकी हेल्थकेयर की पार्टनरशिप कोरोना वायरस की वैश्विक चुनौती से निपट सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज