अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- भारत से किये तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौते

साझा बयान जारी करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित हैदराबाद हाऊस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ साझा बयान जारी किया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ एक साझा प्रेस वार्ता की. इस दौरान उन्होंने कहा कि गुजरात में शानदार स्वागत हुआ और हमेशा याद रहेगा. उन्होंने कहा कि यह दौरा ऐतिहासिक रहा. साबरमती आश्रम, राजघाट और ताजमहल जाकर बहुत खुशी हुई. ट्रंप ने कहा कि पीएम मोदी से आर्थिक मुद्दों पर चर्चा हुई. उन्होंने कहा कि अमेरिका से हुए हेलिकॉप्टर समझौते से भारत की ताकत बढ़ेगी. उन्होंने कहा कि भारत आतंकवाद के खिलाफ और मजबूती से लड़ेगा.

    राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि भारत के साथ अमेरिका आगे भी काम करने को इच्छुक है. उन्होंने कहा कि नशे के व्यापार के खिलाफ लड़ने के लिए अमेरिका भारत के साथ है. ट्रंप ने कहा, भारत और अमेरिका के बीच आर्थिक साझेदारी को बढ़ाएंगे. कहा कि, दोनों देशों के बीच जो समझौते हुए वो काफी अहम हैं.

    उन्होंने कहा, हमने 5जी दूरसंचार प्रौद्योगिकी, हिंद-प्रशांत में स्थिति पर चर्चा की है. ट्रंप ने कहा कि 'हमने तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौतों को अंतिम रूप दिया है.हम कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से निपटने में सहयोग करने को सहमत हुए हैं.व्यापक व्यापार सौदा करने पर फोकस था.'

    इससे पहले पीएम ने कहा, राष्ट्रपति ट्रंप ने ड्रग्स और ओपी-ऑयड की कमी से लड़ाई को प्राथमिकता दी है. आज हमारे बीच ड्रग ट्रैफिक, नार्को आतंकवाद और संगठित अपराध जैसी गम्भीर समस्याओं के बारे में एक नई तकनीकी पर भी सहमति हुई है. साथ ही आतंक के समर्थकों को जिम्मेदार ठहराने के लिए आज हमने अपने प्रयासों को और बढ़ाने का निश्चय किया है.

    अमेरिका भारत का एक बहुत महत्वपूर्ण स्रोत- पीएम मोदी
    प्रधानमंत्री ने कहा, यह संबंध, 21वीं सदी की सबसे महत्वपूर्ण पार्टनरशिप्स में है और इसलिए आज राष्ट्रपति ट्रंप और मैंने हमारे सम्बन्धों को व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी के स्तर पर ले जाने का निर्णय लिया है.

    प्रधानमंत्री ने कहा, कुछ समय पहले स्थापित हमारी सामरिक ऊर्जा साझेदारी मजबूत होने वाली है और इस क्षेत्र में पारस्परिक निवेश बढ़ा है. तेल और गैस के लिए अमेरिका भारत का एक बहुत महत्वपूर्ण स्रोत बन गया है. पिछले तीन वर्षों में हमारे द्विपक्षीय व्यापार में दो अंकों में वृद्धि हुई है, और वह बहुत कम भी हुआ है.

    उन्होंने कहा, वैश्विक स्तर पर भारत और अमरीका का सहयोग हमारे समान लोकतांत्रिक मूल्यों और उद्देश्यों पर आधारित है. ख़ासकर इंडो-पैसिफिक और वैश्विक कॉमन्स में नियम आधारित अंतर्राष्ट्रीय आदेश के लिए यह सहयोग विशेष महत्व रखता है.

    यह भी पढ़ें:  भारत और अमेरिका के बीच संबंध दो देशों के नहीं बल्कि लोगों के हैं : पीएम मोदी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.