UP-बिहार उपचुनाव: नतीजे आज, दांव पर लगी योगी-नीतीश की प्रतिष्ठा

यूपी की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट, बिहार की जहानाबाद, भभुआ विधानसभा सीट और अररिया लोकसभा सीट के लिए रविवार (11 मार्च) को वोट डाले गए थे. इन सीटों के नतीजे बुधवार को घोषित किए जाएंगे.

News18Hindi
Updated: March 13, 2018, 11:52 PM IST
UP-बिहार उपचुनाव: नतीजे आज, दांव पर लगी योगी-नीतीश की प्रतिष्ठा
फूलपुर उपचुनाव के लिए वोट डालने जाती महिलाएं Image: PTI
News18Hindi
Updated: March 13, 2018, 11:52 PM IST
उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा सीट, बिहार की दो विधानसभा सीट और एक लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव के नतीजे बुधवार को घोषित होंगे. यूपी की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट, बिहार की जहानाबाद, भभुआ विधानसभा सीट और अररिया लोकसभा सीट के लिए रविवार (11 मार्च) को वोट डाले गए थे.

निर्वाचन आयोग के सूत्रों के मुताबिक मतगणना का काम सुबह आठ बजे शुरू होगा और 10 बजे तक शुरुआती रुझान मिलने शुरू हो जायेंगे. मतगणना के लिये सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं. गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव के लिये मतदान गत 11 मार्च को हुआ था. इस दौरान क्रमशः 47.75 प्रतिशत और 37.39 फीसद वोट पड़े थे. गोरखपुर सीट के लिये 10 तथा फूलपुर सीट पर 22 उम्मीदवार मैदान में हैं.

गोरखपुर सीट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के और फूलपुर सीट उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य के विधान परिषद की सदस्यता ग्रहण करने के बाद त्यागपत्र देने के कारण खाली हुई थी. हालांकि ये उपचुनाव काफी अहम हैं. चुनाव प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी यह कह चुके हैं कि उपचुनाव का परिणाम साल 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए संदेश भी होगा.

बिहार से इन उम्मीदवारों के भविष्य दांव पर

इसके अलावा बिहार के अररिया लोकसभा के लिए हुए उपचुनाव में 57 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था. बिहार की भभुआ और जहानाबाद विधानसभा सीटों के लिए कराये गए उपचुनाव में क्रमश: 54.03 फीसदी तथा 50.06 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था.

अररिया से आरजेडी सांसद मोहम्मद तस्लीमुद्दीन के निधन के बाद इस सीट पर उपचुनाव कराया गया. इस सीट पर लड़ाई मुख्य रूप से आरजेडी और बीजेपी के बीच है. आरजेडी ने तसलीमुद्दीन के बेटे सरफराज आलम को मैदान में उतारा है जबकि बीजेपी ने प्रदीप सिंह को खड़ा किया है. प्रदीप यहां से साल 2009 में चुनाव जीत चुके हैं जबकि साल 2014 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था.

दूसरी ओर जहानाबाद और भभुआ के मौजूदा विधायकों के निधन के बाद यहां मतदान हुआ था. जहानाबाद सीट पर आरजेडी का कब्जा था और यहां से दिवंगत विधायक मुंद्रिका यादव के बेटे कृष्ण मोहन आरजेडी के टिकट पर मैदान में हैं जबकि भभुआ से बीजेपी ने दिवंगत विधायक आनंद भूषण पांडे की पत्नी रिंकी रानी को मैदान में उतारा है.
(एजेंसी इनपुट्स के साथ)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर