• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • चमोली हादसा: लगातार बढ़ रहा नदी का जलस्‍तर, पूरी रात चला रेस्‍क्‍यू, पढ़ें 10 बड़े अपडेट्स

चमोली हादसा: लगातार बढ़ रहा नदी का जलस्‍तर, पूरी रात चला रेस्‍क्‍यू, पढ़ें 10 बड़े अपडेट्स

उत्‍तराखंड में बचाव कार्य लगातार जारी है. (फोटो साभार-ANI)

उत्‍तराखंड में बचाव कार्य लगातार जारी है. (फोटो साभार-ANI)

Uttarakhand Glacier Burst: राज्‍य में आई तबाही के बाद राहत एवं बचाव कार्य लगातार जारी है. ऐसा कहा जा रहा है कि चमोली में अभी भी कुछ लोग टनल में फंसे हुए हैं. टनल को खोलने के लिए एक्‍सावेटर और पोकलैंड मशीन लगाई गई है.

  • Share this:

    नई दिल्‍ली. उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्‍लेशियर फटने से भारी तबाही के कारण अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 150 लोग अभी भी लापता हैं. उत्तराखंड में तबाही को देखते हुए उप्र और बिहार में गंगा किनारे के सभी जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. राज्‍य में आई तबाही के बाद राहत एवं बचाव कार्य लगातार जारी है. ऐसा कहा जा रहा है कि चमोली में अभी भी कुछ लोग टनल में फंसे हुए हैं. टनल को खोलने के लिए एक्‍सावेटर और पोकलैंड मशीन लगाई गई है. रात में भी रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन जारी रखने के लिए जगह-जगह लाइट लगाई गई.

    उत्‍तराखंड ग्‍लेशियर हादसे के 10 बड़े अपडेट्स-

    भारतीय वायुसेना ने उत्तराखंड आपदा की कमान संभाल ली है. वायुसेना के विमान तथा हेलिकॉप्टर जौलीग्रांट हवाईअड्डा पहुंच गए हैं. हवाईअड्डे के निदेशक डीके गौतम ने बताया कि वायु सेना के सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस के दो भारी परिवहन विमान व दो अन्य विमान रविवार देर शाम यहां पहुंच गए. उन्होंने बताया कि इसके अलावा एमआई-17 के तीन व एक एएलएच हेलीकॉप्टर भी आपदा प्रभावित क्षेत्रों में राहत पहुंचाने के लिए आए हैं.
    उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटने से उत्पन्न हुई परिस्थितियों के मद्देनज़र मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को उत्तर प्रदेश के संबंधित विभागों और अधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया और घटना पर दुख प्रकट किया है. मुख्‍यमंत्री के निर्देश के बाद गंगा किनारे बसे जिलों में प्रशासनिक सक्रियता बढ़ गई है और संबंधित जिलाधिकारियों ने अधिकारियों की बैठक बुलाकर आवश्‍यक तैयारी शुरू कर दी है.
    केंद्र सरकार ने कहा क‍ि उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर के फटने से प्रभावित नदी के जल स्तर में वृद्धि हुई है. हालांकि निचले स्‍तर के गांवों को कोई दिक्‍कत नहीं है. अब राज्‍य के अन्‍य गांवों और हाइड्रोप्रोजेक्ट्स के लिए कोई खतरा नहीं है.
    राष्‍ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) और राज्‍य आपदा प्रतिक्रिया बल (SDRF) के साथ रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन में लगी भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) ने कहा कि वह रात में ऑपरेशन जारी रखेगी. इससे पहले बल ने कहा था कि उसने लगभग 10 शव बरामद किए हैं. एसडीआरएफ ने कहा था कि लगभग 170 लोग लापता हैं.
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मृतकों के परिवार को PMNRF से 2-2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार मुआवजे का ऐलान किया है.
    उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इस घटना में जिन लोगों की मृत्‍यु हुई है, उन सभी के परिवार को राज्‍य सरकार 4-4 लाख रुपये मुआवजा के तौर पर देगी.
    चमोली पुलिस कंट्रोल रूम के अनुसार, नदी का जलस्तर बढ़ रहा है. चमोली के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान के आदेशानुसार, नदी के आस-पास के इलाकों में रहने वाले लोगों को अलर्ट किया जा रहा है.
    उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि एनटीपीसी की 900 मीटर लंबी तपोवन सुरंग में बचाव कार्य जल स्तर बढ़ने के कारण रोकना पड़ा.
    उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ में नंदा देवी ग्लेशियर का एक बड़ा हिस्सा टूटने के कारण धौली गंगा नदी में आयी भीषण बाढ़ से प्रभावित लोगों के बचाव के लिए सेना ने रविवार को चार कॉलम और दो मेडिकल टीमें तैनात की है. अधिकारियों ने बताया कि जोशीमठ के रिंगी गांव में सेना के इंजीनियरिंग टास्क फोर्स का एक दल भी तैनात किया गया है. तपोवन-रेणी पनबिजली परियोजना में काम कर रहे 150 से ज्यादा मजदूरों के मारे जाने की आशंका है.
    उत्तराखंड के चमोली में आपदा राहत कार्य के लिए IAF का C130J सुपर हरक्यूलिस विमान देहरादून के जॉली ग्रांट हवाई अड्डे पर उपकरणों के साथ पहुंचा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज