अपना शहर चुनें

States

उत्‍तराखंड में ग्‍लेशियर टूटने से तबाही, मृतकों के परिवार को 2 लाख रुपये मुआवजा देगी केंद्र

उत्‍तराखंड त्रासदी पर पीएम मोदी ने मुआवजे का ऐलान किया है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-ANI)
उत्‍तराखंड त्रासदी पर पीएम मोदी ने मुआवजे का ऐलान किया है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-ANI)

Uttarakhand Glacier Burst: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मृतकों के परिवार को PMNRF से 2-2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार मुआवजे का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 8, 2021, 8:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्‍लेशियर फटने से भारी तबाही के कारण अब तक 10 लोग जान गंवा चुके हैं, जबकि 150 से ज्‍यादा लापता हैं. ऐसा माना जा रहा है कि अभी मृतकों का आकड़ा बढ़ सकता है. इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मृतकों के परिवार को PMNRF से 2-2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार मुआवजे का ऐलान किया है. वहीं, उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इस घटना में जिन लोगों की मृत्‍यु हुई है, उन सभी के परिवार को राज्‍य सरकार 4-4 लाख रुपये मुआवजा के तौर पर देगी.

उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटने से उत्पन्न हुई परिस्थितियों के मद्देनज़र मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को उत्तर प्रदेश के संबंधित विभागों और अधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया और घटना पर दुख जताया है. मुख्‍यमंत्री के निर्देश के बाद गंगा किनारे बसे जिलों में प्रशासनिक सक्रियता बढ़ गयी है और संबंधित जिलाधिकारियों ने अधिकारियों की बैठक बुलाकर आवश्‍यक तैयारी शुरू कर दी है. योगी ने रविवार को ट्वीट किया, 'देवभूमि उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटने से उत्पन्न हुई आपदा में अनेक नागरिकों के कालकवलित होने की सूचना से मन दुखी है.'





ये भी पढ़ें: Glacier Burst in uttrakhand: CM त्रिवेंद्र रावत का ऐलान, आपदा में शिकार होने वाले लोगों के परिवार को मिलेगा 4-4 लाख का मुआवजा
ये भी पढ़ें: Uttarakhand Disaster Live: उत्तराखंड आपदा में 170 से ज्यादा लोग लापता, 10 शव मिले;4 लाख के मुआवजे का ऐलान

ट्वीट में आगे उन्‍होंने लिखा, 'प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्माओं को शांति, शोकसंतप्त परिजनों को यह दुःख सहने की शक्ति व घायलों को शीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्रदान करें.' रविवार को जारी एक सरकारी बयान में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ''आज उत्तराखंड में नंदा देवी ग्लेशियर के एक हिस्से के टूट कर ऋषिगंगा नदी पर बने बिजली परियोजना बांध पर गिरने की सूचना प्राप्त हुई है.

इससे अलकनंदा नदी में जल प्रवाह अचानक बढ़ गया है. बांध टूटने से उत्पन्न परिस्थितियों के दृष्टिगत उत्तर प्रदेश में गंगा नदी के किनारे स्थित जिलों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है.''

उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटा: बॉलीवुड हस्तियों ने लोगों की सुरक्षा की प्रार्थना की
केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के अध्यक्ष एवं लेखक प्रसून जोशी, अभिनेत्रियों दीया मिर्जा, श्रद्धा कपूर और फिल्म निर्माता अभिषेक कपूर सहित कई फिल्मी हस्तियों ने रविवार को चमोली जिले के जोशीमठ में एक ग्लेशियर टूट जाने से धौली गंगा नदी में आई बाढ़ के मद्देनजर उत्तराखंड के लोगों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना की. जोशीमठ में नंदादेवी ग्लेशियर के एक हिस्से के टूट जाने से धौली गंगा नदी में विकराल बाढ़ आई और पारिस्थितिकीय रूप से नाजुक हिमालय के हिस्सों में बड़े पैमाने पर तबाही हुई. इस हादसे में ऋषि गंगा बिजली परियोजना में काम कर रहे 50 से 100 मजदूर लापता हो गये.

श्रद्धा कपूर ने ट्विटर पर लिखा, 'उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटने के बारे में सुनकर परेशान हूं. वहां सभी की सुरक्षा की प्रार्थना करती हूं.' पर्यावरण के मुद्दों के बारे में मुखर माने जाने वाली श्रद्धा ने कहा कि हिमालय में मानव निर्मित निर्माणों का भी इस त्रासदी में हाथ रहा है. अभिनेत्री ने कहा, 'हिमालय में बहुत सारे बांधों के निर्माण से यह हुआ. चमोली के लोगों के लिए प्रार्थना करती हूं.' सीबीएफसी के अध्यक्ष जोशी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि चमोली और उत्तराखंड के अन्य जिले ग्लेशियर के टूटने से सुरक्षित रहेंगे और किसी का जीवन खतरे में नहीं होगा.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज