Corona vaccine: फरवरी के पहले सप्ताह में शुरू होगा फ्रंटलाइन वर्कर्स का वैक्सीनेशन, बनाए गए 3006 केंद्र

वैक्सीन के लिए शुरुआत में स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर और 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को प्राथमिकता दी गई है.

वैक्सीन के लिए शुरुआत में स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर और 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को प्राथमिकता दी गई है.

वैक्सीन के लिए शुरुआत में स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को प्राथमिकता दी गई है. इसके अलावा गंभीर बीमारी से ग्रस्त लोगों को भी शुरुआती चरण में वैक्सीन दी जाएगी. अंत में वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर शेष आबादी को वैक्सीन दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 8:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर में कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ वैक्सीनेशन (Corona vaccination) की शुरुआत हो चुकी है. हेल्थवर्कर्स के बाद अब फ्रंटलाइन वर्कर्स (Frontline workers) का वैक्सीनेशन किया जाएगा. सरकारी अधिकारी की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, फरवरी के पहले सप्ताह में फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण शुरू होगा. फ्रंटलाइन वर्कर्स को देश भर में स्थापित 3,006 से अधिक टीकाकरण स्थलों पर वैक्सीन प्रदान की जाएगी. प्रत्येक स्थल पर प्रतिदिन लगभग 100 लाभार्थियों को टीका लगाया जाएगा.

वैक्सीन के लिए शुरुआत में स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को प्राथमिकता दी गई है. इसके अलावा गंभीर बीमारी से ग्रस्त लोगों को भी शुरुआती चरण में वैक्सीन दी जाएगी. अंत में वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर शेष आबादी को वैक्सीन दी जाएगी.

देशभर में होंगे 28 हजार वैक्सीनेशन प्वाइंट

वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से डील पूरी होने के बाद इन्हें देश के अलग-अलग 31 मेन हब में रखा जाएगा. ये हब देश के अलग-अलग हिस्सों में बनाए गए हैं. इसके बाद इन वैक्सीन को यहां से देश के 28 हजार वैक्सीनेशन प्वाइंट पर भेजा जाएगा. ये प्वाइंट अलग-अलग राज्यों में हैं. जरूरत पड़ने पर वैक्सीनेशन प्वाइंट की संख्या बढ़ाई जा सकती है. सबसे पहले वैक्सीन की डोज़ एक करोड़ हेल्थ वर्कर्स को दी जाएगी. इसके बाद करीब 2 करोड़ फ्रंट लाइन वर्कर्स को दी जाएगी.
ये भी पढ़ेंः- Farmer Protest: राहुल गांधी का केंद्र से सवाल, पूछा- किसानों को लाल किले में किसने जाने दिया?

Youtube Video


हेल्पलाइन नंबर



इसके अलावा देश भर में हेल्पलाइन नंबर भी तैयार किया जा रहा है, जिससे कि वैक्सीन से जुड़ी सारी जानकारियां लोगों को दी जा सके. अब तक देश भर में करीब डेढ़ लाख लोगों को वैक्सीन देने की ट्रेनिंग भी दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज