होम /न्यूज /राष्ट्र /भारत में महिलाओं का वैक्सीनेशन हो रहा है कम? क्या कहते हैं सरकारी आंकड़े

भारत में महिलाओं का वैक्सीनेशन हो रहा है कम? क्या कहते हैं सरकारी आंकड़े

भारत में अब तक 33 करोड़ से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है. (AP Photo/Mahesh Kumar A.)

भारत में अब तक 33 करोड़ से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है. (AP Photo/Mahesh Kumar A.)

Vaccination In India: सरकारी आंकड़ों के अनुसार वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत से लेकर अब तक 14.99 करोड़ डोज महिलाओं को लगा ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. भारत (Coronavirus In India) ने 21 जून से 29 जून के बीच आठ दिनों में कनाडा की पूरी आबादी से अधिक लोगों को टीका लगा दिया है लेकिन टीकाकरण में पुरुष-महिला के अनुपात में ठीक-ठाक अंतर है. कोविड-19 टीकाकरण अभियान में 21 जून से तेजी आयी है और आठ दिनों में करीब 4.61 करोड़ खुराकें दी गयी हैं जो इराक (4.02 करोड़), कनाडा (3.77 करोड़), सऊदी अरब (3.48 करोड़) और मलेशिया (3.23 करोड़) की आबादी से भी अधिक है. सरकार ने मंगलवार को यह जानकारी दी.

    सरकारी आंकड़ों के अनुसार वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत से लेकर अब तक 14.99 करोड़ डोज महिलाओं को लगाए गए हैं. यह कुल वैक्सीनेशन का 46 फीसदी है वहीं 17.8 करोड़ डोज पुरुषों को लगाए गए है.अब तक हुए टीकाकरण का यह 54 फीसदी है. महिला और पुरुषों के वैक्सीनेशन में 3 करोड़ का अंतर है. भारत में अब तक अन्य लिंग वर्ग के 54,693 लोगों ने टीकाकरण  कराया है. नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वीके पॉल ने महिलाओं और पुरुषों  के टीकाकरण के अंतर पर  कहा, ‘हम चाहते हैं कि टीकाकरण बूथ पर आने वाली महिलाओं का भी अनुपात बढ़े.’

    संख्या कम होने के पीछे यह भी है वजह!
    जब 16 जनवरी को भारत में टीकाकरण अभियान शुरू हुआ तब गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को टीकाकरण के दायरे से बाहर रखा गया था, जो विशेषज्ञों के अनुसार महिला पुरुष के टीकाकरण में अंतर के पीछे एक कारण हो सकता है. महिलाओं को पीरिड्स के दौरान कोविड -19 के टीके नहीं लेने चाहिए या यह कि टीके प्रजनन क्षमता को प्रभावित करेंगे जैसी अफवाहों ने भी महिलाओं को टीके लेने के लिए आगे आने से रोक दिया होगा.

    इससे पहले स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि देश में कोविड-19 रोधी टीके की अभी तक दी गई खुराक की कुल संख्या बढ़कर 33 करोड़ से अधिक हो गई है. देश में अभी तक दी गई टीके की कुल खुराक की संख्या बढ़कर 33,28,54,527 हो गई है. इसमें मंगलवार को दी गई टीके की 36,51,983 खुराक भी शामिल है. मंत्रालय ने कहा कि मंगलवार को 18-44 आयु वर्ग के 19,42,308 लाभार्थियों को पहली खुराक जबकि 78,039 को टीके की दूसरी खुराक दी गई. राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की शुरुआत के बाद से 18-44 आयु वर्ग के कुल मिलाकर 8,99,01,981 लोगों ने पहली खुराक और 20,81,948 लोगों ने टीके की दूसरी खुराक प्राप्त की है.

    आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, ओडिशा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल ने 18-44 आयु वर्ग के 10-10 लाख से अधिक लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक दी है. मंत्रालय ने कहा कि आठ राज्यों- उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु, बिहार, गुजरात, कर्नाटक और महाराष्ट्र में से प्रत्येक ने 50-50 लाख से अधिक लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक दी है.

    Tags: Coronavirus in India, Covid19, Vaccination in India

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें