Assembly Banner 2021

यूपी में वैक्सीनेशन: 40% हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स ने नहीं ली दूसरी खुराक, सरकार ने की अपील

आंकड़े बताते हैं कि देश में 5.5 करोड़ से ज्यादा लोग ऐसे हैं, जिन्हें वैक्सीन का कम से कम एक डोज मिल गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

आंकड़े बताते हैं कि देश में 5.5 करोड़ से ज्यादा लोग ऐसे हैं, जिन्हें वैक्सीन का कम से कम एक डोज मिल गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

Vaccination In Uttar Pradesh: 15 फरवरी को टीकाकरण के दूसरे चरण को शुरू करने से पहले, राज्य सरकार ने 15 लाख से अधिक फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण करने का अनुमान लगाया था,

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में 16.49 लाख से अधिक हेल्थकेयर वर्कर्स और फ्रंट लाइन वर्कर्स में से 40 फीसदी ने वैक्सीन (Vaccination In Up) की दूसरी खुराक नहीं ली है.  यह जानकारी अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद द्वारा दी गई. उन्होंने बताया कि राज्य में 8.90 लाख से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन की पहली खुराक मिली है, लेकिन 3.05 लाख के करीब, या उनमें से 34 प्रतिशत ने दूसरी खुराक नहीं ली है . इसी तरह, 7.59 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स में से जिन्होंने पहली खुराक ली उसमें से 3.50 लाख या 46 प्रतिशत ने दूसरी खुराक छोड़ दी.  उन्होंने बाकी बचे स्वास्थ्यकर्मियों से टीके की दूसरी खुराक लगवाने की अपील की.

प्रसाद ने बताया कि राज्य में अब तक 56 लाख 65 हजार लोगों को कोविड-19 का टीका लगाया जा चुका है. इनमें से 46 लाख 75 हजार लोगों को टीके की पहली खुराक, जबकि नौ लाख 90 हजार लोगों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है.

Youtube Video




कोविड-19 टीकाकरण पर खास जोर दे रही सरकार
गौरतलब है कि राज्य सरकार कोविड-19 टीकाकरण पर खास जोर दे रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को आदेश दिया था कि सभी सरकारी और निजी कर्मचारियों को टीका लगवाने के लिए एक दिन की छुट्टी की अनुमति दी जाए. प्रदेश में 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लगाने का काम एक अप्रैल से शुरू होगा.

15 फरवरी को टीकाकरण के दूसरे चरण को शुरू करने से पहले, राज्य सरकार ने 15 लाख से अधिक फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण करने का अनुमान लगाया था, जिसमें पुलिस कर्मी, होमगार्ड, राजस्व अधिकारी, नगर निगम के सदस्य, जेल कर्मचारी, नागरिक सुरक्षा, आपदा प्रबंधन दल और अर्धसैनिक बल शामिल हैं.

देश में कोविड रोधी टीके की 6.43 करोड़ से अधिक खुराकें दी गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि देश में कोविड रोधी टीके की 6.43 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं. शाम सात बजे तक की अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार, 6,43,58,765 लोगों को टीके की खुराकें दी गई हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, 82,47,288 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई है जबकि 52,38,705 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है. इसी तरह अग्रिम पंक्ति के 91,34,627 कर्मियों को टीके की पहली खुराक लगाई गई है जबकि 39,23,172 अग्रिम पंक्ति के कर्मियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है.

साठ वर्ष से अधिक उम्र के 3,00,39,599 लोगों को कोविड-19 रोधी टीके की पहली खुराक दी गई है. इस आयु वर्ग के 86,869 लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी जा चुकी है. मंत्रालय ने बताया कि गंभीर बीमारियों से पीड़ित 45-60 वर्ष आयु वर्ग के 76,74,934 लोगों को टीके की पहली खुराक और इस श्रेणी के 13,571 लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है.

उसने बताया कि बुधवार शाम सात बजे तक टीके की 13,04,412 खुराकें दी गई हैं. यह राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू होने का 75वां दिन है जो 16 जनवरी को शुरू हुआ था. शाम सात बजे तक की अस्थायी रिपोर्ट के मुताबिक, इनमें से 11,07,413 लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक लगाई गई है जबकि 1,96,999 लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज