उत्तर प्रदेश: मुलायम के वैक्सीन लेने और अखिलेश के यू टर्न के बाद SP के इलाकों में बढ़ गई वैक्सीनेशन की रफ्तार

मुलायम सिंह यादव ने लगवाई Corona की वैक्सीन

Covid-19 Vaccine: ऐसा लग रहा है कि कन्नौज जैसे क्षेत्रों में जहां सपा मतदाताओं का बोलबाला है वहां अखिलेश की अपील का उन पर सकारात्मक प्रभाव दिखा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के उन इलाकों में वैक्सीनेशन (Covid-19) की रफ्तार बढ़ गई है जहां समाजवादी पार्टी (SP) का दबदबा है. वजह है 7 जून को मुलायम सिंह यादव का वैक्सीन लेना और फिर अखिलेश यादव का यू टर्न. बता दें कि अखिलेश ने पहले कहा था कि वो बीजेपी वालों की वैक्सीन नहीं लेंगे. लेकिन बाद में उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से वैक्सीन लेने की अपील की.

उत्तर प्रदेश के इटावा, कन्नौज, मैनपुरी और और आजमगढ़ में मई तक औसत से कम संख्या में लोग वैक्सीन ले रहे थे. सपा अध्यक्ष और आजमगढ़ से सांसद अखिलेश यादव ने जनवरी में कहा था कि वो "भाजपा का टीका नहीं लेंगे." लेकिन 8 जून को, अपने पिता मुलायम सिंह यादव के टीकाकरण के एक दिन बाद, अखिलेश ने कहा कि वो 'भारत सरकार की वैक्सीन लेंगे और साथ ही उन्होंने सभी से वैक्सीन लेने की अपील की. बता दें कि अखिलेश यादव को भी अप्रैल के महीने में कोरोना हुआ था.

कन्नौज में बढ़ी टीकाकरण की रफ्तार
ऐसा लग रहा है कि कन्नौज जैसे क्षेत्रों में जहां सपा मतदाताओं का बोलबाला है वहां अखिलेश की अपील का उन पर सकारात्मक प्रभाव दिखा है. यहां से अखिलेश और उनकी पत्नी डिंपल यादव दोनों पहले सांसद रह चुके हैं. कन्नौज में लगभग 19 लाख की कुल आबादी में से केवल 7.5% (1.4 लाख) को ही वैक्सीन लगी थी. जबकि राज्य की औसत वैक्सीनेशन रेट 10 फीसदी थी. लेकिन 30 मई तक यहां रोजाना लगभग 200-300 लोगों को ही वैक्सीन लग रही थी वहीं 1 से 5 जून के बीच कन्नौज में रोजाना औसतन 2,500 लोगों का टीकाकरण हो रहा था, वहीं अब 12 जून से कन्नौज में रोजाना 5,000 से अधिक लोगों को टीके लग रहे हैं.

मुलायम के टीकाकरण की तस्वीर देखकर हुए प्रेरित
15 जून को जब News18 ने कन्नौज के सरकारी मेडिकल कॉलेज का दौरा किया, तो टीकाकरण के लिए लोगों की लंबी कतार देखी गई. गुरसाईंगंज से यहां आए यादव परिवारों के एक ग्रुप के किसान मनोज यादव ने कहा कि मुलायम सिंह यादव के टीकाकरण की तस्वीर देखकर वे 'प्रेरित' हो गए थे. उन्होंने कहा, 'जब नेताजी (मुलायम सिंह यादव) को भी वैक्सीन लग रही है, तो हमें लगा कि हमें भी टीका लगवाना चाहिए और इससे कोई खतरा नहीं है. हालांकि हमारे गांव में कोविड लगभग खत्म हो गया है.'

ये भी पढ़ें:- lAC पर चीन बढ़ा रहा ताकत, परमाणु बॉम्‍बर से मिसाइलें तक कर रहा तैनात

आजमगढ़ और मैनपुरी में बढ़ी संख्या
अखिलेश के वर्तमान लोकसभा क्षेत्र आजमगढ़ में जिले की आबादी 53 लाख है लेकिन यहां अब तक 8% लोगों ने ही वैक्सीन ली है. इस जिले में 29 मई से 4 जून के के बीच लगभग 42,000 लोगों ने वैक्सीन ली. इसके अगले सप्ताह ये बढ़ कर 53,416 पहुंच गया. और इस सप्ताह संख्या पहले ही 30,000 को पार कर गई है. यही स्थिति मुलायम के मैनपुरी विधानसभा क्षेत्र की है जहां 29 मई से 4 जून तक साप्ताहिक टीकाकरण 6,322 से अगले सप्ताह में दोगुना होकर 11716 और इस सप्ताह में अब तक 10585 हो गया है.



सैफई में भी उमड़ी भीड़
यादव परिवार का गृह जिला इटावा, जिसमें उनका पैतृक गांव सैफई भी है, अब तक लगभग 10% टीकाकरण की रिपोर्ट मिली है. जिसमें कुल 19 लाख आबादी के मुकाबले 1.4 लाख लोगों को वैक्सीन दी गई थी. सैफई में, जब न्यूज 18 ने मंगलवार को दौरा किया, तो दो टीकाकरण केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) और यूपी यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेज, सैफई में वैक्सीन के लिए लोगों की अच्छी भीड़ देखी गई.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.